तथाकथित पत्रकार पर फिर लगे आरोप – अदालत के आदेशो की भी नही कर रहा अनुपालना

क्राइम पॉवटा साहिब

पांवटा साहिब — शहर के एकमात्र कथित बिगडैल व असामाजिक तत्व जसवीर सिंह हंस अब पत्रकारिता की हैकडी दिखाते हुए अदालत के आदेशो की भी तौहीन कर रहा है। अभी कुछ समय पहले अदालत ने कथित विवादित जमीन को यथास्थिति बनाए रखने के आदेश जारी किए है। किन्तु पुलिस की दलाली करने वाले तथाकथित पत्रकार ने विवादित जमीन पर भी हस्तक्षेप कर अदालत के आदेशो की भी धज्जियां उडा कर रख दी है। शिकायतकर्ता परिवार ने आरोपी के सीसीटीवी फुटेज भी मीडिया के साथ सांझा किये है और इस पाखंडी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है। फिलहाल पीड़ित परिवार पुलिस स्टेशन में मामले की सूचना देने पहुंचा है।
जसवीर सिंह जस्सी पुलिस की दलाली में भी कई बार अपना मुंह काला करवा चुका है जो कि मामले ​अदालत मे विचाराधीन है। अभी कुछ समय पहले भी गुण्डागर्दी दिखाते हुए एक महिला को लोहे की रोड से सरेआम पीटता नजर आया था जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। अपनी माता को भी घर से निकाल दिया था प्रोपर्टी के लालच मे और जब समाज मे तौहीन हुई तो वापस भी ले आया । इससे पूर्व अपनी माता के साथ भी कई मामले मारपीट के उजागर हुए थे।
आपको बताते चलें की आरोपी के खिलाफ महिला थाना नाहन में भी एक मामले में जांच चल रही है जिसमे आरोपी ने अपने कुकर्मों को स्वीकार करते हुए अभद्र पोस्ट डालने की जिम्मेवारी ली है ऐसा सूत्र बता रहे है। एक अन्य मामले में माननीय उच्च न्यायालय में विचाराधीन मामले में भी उसने समझौता करवाया। आपराधिक छवि वाले इस व्यक्ति पर एक दर्जन से अधिक मामले है।


अपने कुकर्मों के लिए जसवीर सिंह हंस गिरगिट की तरह रंग बदलते हुए कई बार माफ़ी भी मांग लेता है लेकिन जेहरीले बिच्छू की तरह उसकी आदत अभी भी बरकरार है।
आपको यह भी बताते चलें की जसवीर सिंह हंस जालसाज किस्म का तत्व भी है जो किसी भी व्यक्ति को अपने बने हुए जाल में फ़साने की हिमाकत रखता है इसी तरह एक युवक को भी एक दलाल किस्म के पुलिस कर्मचारी से मिलीभगत कर उसपर एनडीपीएस का झूठा मामला बना दिया। आरोपी जसबीर सिंह हंस ने कुछ वर्ष पहले भी एक पत्रकार को जान से मारने का प्रयास किया था और मोके के गवाह को को झूठे मामले में फसवाने की धमकियाँ भी सार्वजनिक रूप से दी थी। आरोपी के खिलाफ जो भी आवाज उठाता है वो उसे गाडी के नीचे कुचल देने की धमकियाँ भी देता है . अब देखना यह होगा की पुलिस आरोपी के खिलाफ क्या कार्रवाई करती है ।