हादसे में माँ से लिपटे मिले बच्चों के शव, घर के बुजुर्ग ने किया बेटे, बहुओं व पोतों का अंतिम संस्कार

MANDI (मंडी) दुर्घटना हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / गोहर (मंडी)

एक साथ जली एक परिवार की 8 चिताएं, मंजर देख सिहर उठी रूह, हर आंख हुई नम..

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के गोहर (Gohar) के काशन गांव में पंचायत प्रधान के घर से एक साथ आठ अर्थियां उठीं, तो

हर आंख नम हो गई। हर तरफ सन्नाटा छाया रहा।

इस दर्दनाक मंजर को देख कर गांव का हर बच्चा बूढ़ा रो पड़ा। मां की चीखों से माहौल गमगीन हो गया। हालांकि पिता रूप चंद अपने दर्द को छिपाए सभी लोगों से बात करते हुए नजर आए। सब कुछ छिन जाने के बावजूद भी रूप चंद ने बेटे, बहुओं और पोतों का अंतिम संस्कार किया।

बता दें कि हिमाचल के मडी जिला में शनिवार को आसमान से ऐसी आफत बरसी की घर में सो रहे लोगों को पता भी नहीं चला कि कब वह मौत के आगोश में समा गए। नाचन की ग्राम पंचायत काशन के गांव झड़ोंन में प्रधान खेम सिंह के घर पर ऐसा पहाड़ आ गिरा कि पक्के मकान के साथ आठ जिंदगियां मलबे में दफन हो गई।

मृतकों को निकालने में जुटी टीम को जब शव मिलना शुरू हुए तो उन्हें देख हर कोई सिहर उठा। बच्चों के शव मां से लिपटे हुए थे। हादसे में काशन गांव के एक घर के गिरने बाद उसके मलबे में दबने से एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत हो गई थी। सभी शवों (Dead Body) को निकाल लिया गया।

वहीं, पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा। पोस्टमार्टम के बाद गांव में एक ही परिवार के आठ लोगों का अंतिम संस्कार किया गया। जिसकी शायद किसी ने कल्पना भी नहीं की थी।

बता दें कि प्रदेश में पिछले तीन दिन से भारी बारिश हो रही है। जिसके चलते शुक्रवार रात करीब दो बजे गोहर की काशन पंचायत के प्रधान खेम सिंह के घर पर पहाड़ी से भारी मलबा आ गिरा।

हादसे की सूचना मिलते पुलिस प्रशासन पूरी टीम के साथ रात तीन बजे ही मौके पर पहुंच गया और बचाव कार्य शुरू किया। बताया जा रहा है कि प्रधान का परिवार घर में सो रहा था। इसी दौरान पहाड़ी से भारी मलबा मकान पर आ गिरा। जिससे मकान पूरी तरह से जमींदोज हो गया।

जिला प्रशासन ने कड़ी मशकत के बाद शनिवार दोपहर बाद तक सभी आठ शव बरामद कर लिए और उन्हें पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया। जिसके उपरांत इन सब का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।