महिला सशक्तिकरण को लेकर भाजपा नेता मदन मोहन शर्मा की नई पहल

Local News SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब महिला युग हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

विधानसभा क्षेत्र पांवटा साहिब की महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में समाज सेवी व भाजपा के वरिष्ठ नेता मदन मोहन शर्मा ने नई पहल की है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों को प्रोत्साहन देने व राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन से जोड़ने के लिए पंचायत स्तर पर जागरूक करेंगे। साथ ही स्वयं भी महिलाओं को रोजगार से जोड़ने की दिशा में प्रयास करेंगे। 

उन्होंने महिलाओं को आश्वस्त किया है की महिलाओं के “सेल्फ हेल्प ग्रुप” में तैयार होने वाले उत्पादों की बिक्री के लिए पांवटा साहिब में स्थान उपलब्ध करवाएंगे, ताकि महिलाएं द्वारा तैयार किये जाने वाले उत्पादों की आसानी से बिक्री कर अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार कर सकेंगी। मदन मोहन शर्मा ने भगाणी कार्यालय परिसर में आयोजित महिला सशक्तिकरण जागरूकता शिविर में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। प्रसिद्ध शिक्षाविद्व व समाजसेवी प्रोफ़ेसर संतोष कुमार की 9वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष पर सारस व एसोर्ड संस्था के सयुंक्त तत्वाधान में महिला सशक्तिकरण जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया था।

प्रोफ़ेसर संतोष कुमार शिक्षा विभाग में कार्यरत थे, और कॉलेज से बतौर प्रिंसिपल सेवानिवृत हुए थे इसके बाद सारा जीवन समाजसेवा को समर्पित किया। कई सामाजिक संस्थाओं का गठन किया। जन कल्याण हेतु संघर्ष करते रहे। 17 अगस्त 2013 को उनका निधन हो गया था। उन्होंने सामाजिक संस्था सोशल एग्रीकल्चरल रिसर्जेंस ऑफ़ सिरमौर की भी स्थापना की थी। उनके देहांत के बाद भी संस्था सामाजिक कार्य कर रही है। प्रोफ़ेसर संतोष कुमार की पुण्यतिथि के अवसर पर सर्वप्रथम कार्यक्रम के वशिष्ठ अतिथि रवि प्रकाश जोशी, बीडीओ पांवटा साहिब सहित समस्त पत्रकारों ने प्रोफ़ेसर संतोष कुमार की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये। बीडीओ पांवटा साहिब रवि प्रकाश जोशी ने प्रोफ़ेसर संतोष कुमार का जीवन परिचय दिया।

कार्यक्रम के दौरान एसोर्ड संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर जगदीश तोमर ने हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड की योजनाओं की जानकारी दी। मदन मोहन शर्मा ने महिलाओं के सेल्फ हेल्प ग्रुप को आजीविका कमाने के टिप्स दिए। कार्यक्रम के दौरान बीडीओ व मदन मोहन शर्मा ने सामाजिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली करीब चार दर्जन महिलाओं को सम्मानित किया व उनका हौसला भी बढ़ाया।