आखिर तथाकथित पत्रकार को पुलिस कब घोषित करेगी 10 नम्बरी ?

SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – पांवटा साहिब

ब्लेकमेलिंग के आरोप , गुंडागर्दी के आरोप , बदसलूखी के आरोप , महिलाओं से छेड़खानी के आरोप सहित न जाने कितने आरोप तथाकथित पत्रकार पर लगे है। पुलिस स्टेशन पांवटा साहिब में एक दर्जन से अधिक मामले तथाकतिथ पत्रकार भस्मासुर के खिलाफ दर्ज है। हाल ही में अपनी भाभी पर लोहे की रॉड से जानलेवा हमला करने वाले इस तथाकथित गुंडे का असली चेहरा लोगो के सामने आया था ।
अपनी करतूतों को लेकर खबरोंवाला { जिसे लोग पहले कपडोवाला } के नाम से जानते थे ,लम्बे अरसे से चर्चाओं में रहा , जिसके काले कारनामों से उच्च स्तर के अधिकारी अनभिज्ञ थे। समाज के अन्य वर्ग को भी इसके काले कारनामों का पता नहीं था। लोग इसलिए चुप थे की कीचड पर पत्थर मारने से कोई फायदा नहीं। लेकिन इसके पड़ोस की महिलाओं ने दम दिखाया और इसके खिलाफ एक और मामला महिला थाना में दर्ज करवा कर सांस ली। अभी आरोपी की भाभी इन्साफ के लिए दर -दर भटक रही है लेकिन उसे इन्साफ नहीं मिल पा रहा है। अब पीड़िता ने महिला आयोग में जाने का मन बना लिया है और जिसने भी इस तथाकथित पत्रकार के दबाव में आकर इन्साफ दिलवाने में रोड़ा डाला है उनकी भी जबाबदेही बनेगी। वहीँ पड़ोस की 2 अन्य महिलाएं भी आरोपी के खिलाफ अपनी चुप्पी तोडना चाहती है जिसके लिए उन्होंने सिरमौर न्यूज़ से संपर्क किया है।
बताते चले की शातिर किस्म के इस उपद्रवी ने शहर में उत्पात मचा रखा है , लोगो पर झूठे मामले बनवाकर आरोपी अपना हित साधने की नाकाम कोशिश में रहता है। इस पाखंडी ने इससे पहले भी पत्रकारों के खिलाफ उटपटांग पोस्ट डालने का प्रचलन शुरू किया , लेकिन जब इसके काले कारनामें उजागर होने शुरू हुए तो भीगी बिल्ली की तरह माफियां मांगता फिरा। इतना ही नहीं कई लोगो के आगे भी आरोपी ने घड़ियाली आंसू बहाकर अपनी पतली हालत का हवाला दिया। यहाँ तक की आरोपी किसी से फोन पर बात करते हुए भी बार बार हाथ जोड़ रहा था।
हाल ही में आरोपी किसी के निजी मकान में आकर एक वरिष्ठ पत्रकार और सिरमौर न्यूज़ के संपादक के पाँव पड़ा और अपने कुकृत्यों के लिए माफियां मांगने लगा। ब्लड प्रेशर , सुनने की समस्या, रात को नींद नहीं आने से लेकर आरोपी ने कई तरह की दुहाई दी। इस दौरान सबने आरोपी को समझया की वो सभ्य तरीके से रहना शुरू करें और शहर की शांति भंग न करे। इस दौरान आरोपी ने अपनी साइट से सारी अभद्र सामग्री भी हटा दी। और अच्छा बच्चा बनने की कस्मे खाई। लेकिन सिरमौर न्यूज़ ने अपनी एक भी पोस्ट नहीं हटाई। जिसके बाद से तथाकथित गुंडे ने झूठ का पुलिंदा तैयार किया है जो जल्द ही औंधे मुँह गिरने वाला है।
कहते है की “उत्पाती बंदर कब अपनी हरकतों से बाज आया” ? यही हाल तथाकथित पत्रकार का है जिसपर एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज है। सवाल यही उठता है की आखिर पुलिस इसे कब 10 नम्बरी घोषित करेगी।

आज भी एक महिला पत्रकार ने आरोपी को एक कार्यक्रम के दौरान जमकर लताड़ लगाई , आरोपी की आवाज अचानक बकरी जैसी हो गयी और ऊर्जा मंत्री की पत्रकार वार्ता के बाद वो मोके से रफूचक्कर हो गया , नहीं तो आरोपी को आज सरेआम जूते पड़ने वाले थे !