नाहन में समग्र शिक्षाअभियान के तहत समीक्षा बैठक का आयोजन, प्रगति रिपोर्ट पर हुई चर्चा

Local News SIRMOUR (सिरमौर) नाहन हिमाचल

मिशन निपुण भारत के अंतर्गत विद्यार्थियों में भाषा तथा गणितके मूलभूत ज्ञान को विकसित करने पर दिया जाएगा विशेष बल

नाहन 16 जून – जिला सिरमौर केमुख्यालय नाहन के बचत भवन में आज जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान द्वारा समग्र शिक्षा की जिला स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने की।

उपायुक्तने बैठक में आए हुए प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि समग्र शिक्षा की जिला भर में चलाई जा रही विभिन्न स्कीमों और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में गंभीरता दिखाए। उन्होंने कहा कि समग्र शिक्षा के तहत डाइट सिरमौर में चलाई जा रही विभिन्न स्कीमों की प्रगति को उच्च शिखर तक ले जाने के लिए पूर्ण सहयोग प्रदान करें ताकि जिला सिरमौर समग्र शिक्षा के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी जिले के रूप में उभर कर आगे आए। बैठक के दौरान जिला के स्कूलों में समग्र शिक्षा अभियान के तहत चलाई जा रही विभिन्न गतिविधियों की समीक्षा की गई।

जिला के स्कूलों में गुणात्मक शिक्षा किस प्रकारप्रदान की जाए, इस बारे में भी सुझाव सांझा किए गए। बैठक में उपायुक्त नेबताया की राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत मिशन निपुण भारत के अंतर्गतसिरमौर के विद्यार्थियों में भाषा तथा गणित के मूलभूत ज्ञान को विकसित करने पर विशेष बल दिया जाएगा। इस मिशन के माध्यम से सन 2026-27 तक तीसरी कक्षा के अंत तक छात्रों में पढ़ने, लिखने एवं अंकगणितको सीखने की बेहतर क्षमता भी विकसित होगी। उन्होंने कहा कि निपुणमिशन के माध्यम से बच्चे संख्या, माप और आकार के क्षेत्र के तर्क को भी समझ पाएंगे। इसके साथ ही बच्चों के शैक्षणिक सुधार के मूल्यांकन की निगरानी भी सुनिश्चित की जाएगी।
उपायुक्तने बैठक के दौरान सर्व शिक्षा अभियान, इंक्लूसिव शिक्षा, फिट इंडिया, कला उत्सव,कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, निष्ठा ट्रेनिंग, रीडिंग मिशन 2022, स्वच्छविद्यालय पुरस्कार स्कूल मैनेजमेंट कमेटी, वोकेशनल शिक्षा, प्री स्कूल शिक्षा के अतिरिक्तशिक्षा विभाग की अन्य योजनाओं की भी समीक्षा की। बैठक में प्रधानाचार्य डाईट नाहन ऋषि पाल शर्मा ने उपस्थित लोगों को डाईट नाहन कीओर से चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।बैठकमें अध्यक्ष जिला परिषद सिरमौर सीमा कन्याल, उप-निदेशक उच्च शिक्षा कर्मचंदसहित शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी व शिक्षक उपस्थित रहे।