सर्दियों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का जोखिम- डॉ. ज्योतिनाथ

Local News पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ -पांवटा साहिब

दिल का दौरा पड़ना या हार्ट अटैक, मौजूदा समय में मृत्यु के सबसे आम कारणों में से एक है। एक दशक पहले तक हार्ट अटैक को बढ़ती उम्र के साथ होने वाली समस्या माना जाता था, हालांकि अब 30 से 40 साल की आयु वाले लोगों में भी हार्ट अटैक के मामले सुनने को मिल रहे हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक जीवनशैली और आहार में गड़बड़ी के साथ कई अन्य कारण भी हार्ट अटैक को बढ़ावा दे सकते हैं। इसके अलावा मौसम में होने वाले बदलाव, विशेष कर सर्दियों का मौसम भी हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ा सकता है। इस बारे में लोगों को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है।
श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेंटर , पांवटा साहिब में कार्यरत हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. ज्योतिनाथ ने बताया की वैसे तो सर्दियों का मौसम सभी लोगों का पसंदीदा मौसम माना जाता है, हालांकि यह भी ध्यान रखना आवश्यक है कि इस मौसम में दिल का दौरा भी अधिक पड़ता है। सर्दियों का मौसम हृदय रोगियों के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है। उन्होंने ने बताया की हार्ट अटैक की स्थिति में रोगी की जान बचने के लिए भी 10 मिनिट की देरी भी भारी पड़ सकती है। यदि किसी भी व्यक्ति को छाती में दर्द महसूस होती है तो उसे बिना वक़्त जाया किये रोगी को मेडिकल सुविधा पहुँचाना बेहद जरुरी है। सर्दियों में हृदय रोगी को विशेष ध्यान रखना चाहिए।
उन्होंने बताया की कार्डियक केयर सेंटर में हम पिछले कुछ दिनों से देख रहे है की रोगी को अस्पताल पहुँचाने में देरी होने से उनकी मृत्यु हो गयी। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम सभी से आग्रह करना चाहते है की सर्दियों में हलकी छाती में दर्द को भी नज़रअंदाज़ नहीं करना। तुरंत रोगी को श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेंटर , पांवटा साहिब में लेके आएं।
इस विषय पर अधिक जानकारी देते हुए श्री साई ग्रुप ऑफ़ हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. दिनेश बेदी ने बताया की श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेंटर पांवटा साहिब की और से पांवटा साहिब के 5 की० मी ० के दायरे से मुफ्त एम्बुलेंस की सुविधा एवं मुफ्त सैंपल कलेक्शन की सुविधा भी उपलब्ध है जिसके लिए 98161 -73200 पर कॉल कर सकते है। श्री साई कार्डियक एवं क्रिटिकल केयर सेंटर पांवटा साहिब में हृदय रोग के उपचार के लिए सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्द्ध है, उन्होंने बताया कि समय रहते ही रोगी की पूर्ण जाँच करवाएं ताकि बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधा से रोगी का इलाज किया जा सके।