आंजभौज के सुनोग में अमर शहीद रविंद्र सिंह के स्मृति स्थल पर आयोजित हुई श्रद्धांजलि सभा

Local News SIRMOUR (सिरमौर) हिमाचल

सिरमौर न्यूज़

इकलौते लाडले को याद कर पिता सुंदर सिंह और माता कमला देवी हुए भावुक।

अपने माता पिता के इकलौते पुत्र अमर शहीद रविंद्र सिंह के पैतृक गांव शिवा-सुनोग स्थित समृति स्थल पर प्रातः 11 बजे भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब-शिलाई क्षेत्र व परिवार तथा गांव व पंचायत के सदस्यों ने अमर शहीद रविंद्र को श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

शहीद रविंद्र सिंह 9वीं बटालियन, डोगरा रैजिमेंट के अंतर्गत 1997 में जम्मूकश्मीर के पुलवामा में तैनात थे। 19 जनवरी 1997 को सिपाही रविंद्र सिंह ने दुश्मनों से लोहा लेते हुए देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया।
वर्तमान में शहीद रविंद्र के परिवार में उनके केवल माता पिता है। परिवार, गांव व क्षेत्र के सभी लोगों को सिपाही रविंद्र के सर्वोच्च बलिदान पर गर्व है।
इस मौके पर पिता सुंदर सिंह और माता कमला देवी व सगंठन के सचिव ने स्मारक स्थल पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया उसके उपरांत राष्ट्रगान गाया। तदोपरांत उपस्थित सभी लोगों ने शहीद रविंद्र के स्मृति स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस मौके पर उपस्थित लोगों ने भारत माता की जय व शहीद रविंद्र अमर रहे के नारे लगाए और भूतपूर्व सैनिक सगंठन पांवटा साहिब व शिलाई क्षेत्र के सचिव नरेन्द्र सिंह ने उपस्थित सभी नौजवानों से राष्ट्र के प्रति समर्पित होकर काम करने की अपील की तथा देश के लिए हमेशा मर मिटने के लिए तैयार रहने की बात की। साथ ही कहां की शहीद रविंद्र के माता पिता हम सभी देशवासियों के लिए प्रेरणा स्रोत है जिन्होंने अपने इकलौते लाड़ले को सेना में भेज कर देश सेवा करने की प्रेरणा दी।
इस मौके पर शहीद रविंद्र के पिता सुंदर सिंह और माता कमला देवी, शहीद के चचेरे भाई केदार सिंह, स्थानीय पंचायत प्रधान बबीता देवी, पूर्व प्रधान दोलत राम, भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई क्षेत्र से सचिव नरेन्द्र सिंह ठुंडू, कोषाध्यक्ष तरुण गुरंग, सह सचिव मोहन चौहान, मिडिया प्रभारी स्वर्ण जीत व दिनेश कुमार, सतीश कुमार, दीपचंद, दिनेश कुमार, विजय कुमार, स्थानीय ग्रामवासी व क्षेत्रवासी तथा अन्य गणमान्य सदस्य मौजूद रहे।