पांवटा अस्पताल में न्युक्त हो रेडियोलॉजिस्ट, बाहती विकास मंच ने उठाई मांग

Local News SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब स्वछता स्वास्थ्य हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

बाहती विकास युवा मंच जिला सिरमौर का एक प्रतिनिधिमंडल कार्यकारी उप मंडल अधिकारी/ तहसीलदार वेद प्रकाश अग्निहोत्री को सिविल अस्पताल पांवटा साहिब में रेडियोलॉजिस्ट का पद न भरे जाने को लेकर मिला।

विदित है कि बाहती युवा मंच ने जून माह से लेकर अब तक कई बार अल्ट्रासाउंड मशीन को चलाने के लिए प्रशासन को पत्र प्रेषित किए। बाबजूद इसके प्रशासन के ढुलमुल रवैए के कारण पांवटा सिविल अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट की नियुक्ति नहीं हो पाई है।

युवा मंच ने अक्टूबर माह में एक दिवसीय संकेतिक हड़ताल की चेतावनी दी थी, जिस से आनन फानन में प्रशासन ने तुरंत दो रेडियोलॉजिस्ट की नियुक्ति के आदेश जारी किए थे। बावजूद इसके उन्होंने सिविल हॉस्पिटल में ज्वाइन नहीं किया।

युवा मंच प्रैस सचिव नरेश चौधरी व कानूनी सलाहकार हिमांशु परवाल ने कहा कि आज युवा मंच ने पुनः प्रशासन को चेतावनी स्वरूप पत्र प्रेषित किया है कि अगर विधानसभा शीतकालीन सत्र के अंतिम दिवस तक रेडियोलॉजिस्ट की नियुक्ति नहीं हुई, तो युवा मंच को मजबूरन आंदोलन का रास्ता अपनाते हुए भूख हड़ताल पर जाना पड़ेगा,जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

ज्ञात रहे कि सिविल हॉस्पिटल पांवटा से चिकित्सकों के द्वारा प्रतिदिन एक सैकड़ा से अधिक गर्भवती महिलाओं सहित अन्य मरीजों को निजी अस्पतालों में अल्ट्रासाउंड कराने के लिए रेफर किया जाता है।

जिसके लिए उन्हें भारी भरकम कीमत चुकानी पड़ती है और सरकार को भी राजस्व का नुक़सान होता है। गर्भवती महिलाओं के लिए केंद्र व राज्य सरकार ने निशुल्क अल्ट्रासाउंड की सुविधा दी है, परंतु सिविल हॉस्पिटल पांवटा साहिब का प्रशासन इस सुविधा से पांवटा विधानसभा की जनता के साथ साथ नाहन व रेणुका विधानसभा के लोगों को वंचित रख रहा है।

प्रतिनिधिमंडल में मंच जिलाध्यक्ष सुनील चौधरी, प्रेस सचिव नरेश चौधरी, कानूनी सलाहकार हिमांशु परवाल,धर्मपाल, प्रदीप चौधरी, सुरेन्द्र पाल आदि शामिल रहे।