हरिपुर टोहाना में जमीन पर पहला हक किसानों का – अनिंदर सिंह नोटि

Local News SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

भारतीय किसान यूनियन पांवटा साहिब की एक महत्वपूर्ण बैठक सोमवार को हरिपुर टोहाना में सम्पन्न हुई। जिसमें क्रिकेट खेल स्टेडियम बनाने की कवायद को लेकर चर्चा हुई। भारतीय किसान यूनियन प्रदेश अध्यक्ष अनिन्दर सिंह नॉटी ने बताया कि बैठक में एकमत होकर निर्णय लिया गया कि हरिपुर टोहाना में जमीन पर पहला हक किसानों का है, क्यूंकि इस जमीन को आबाद और सबकी नजरों में लाने का काम किसान आंदोलन ने किया। जब क्षेत्र के किसानों ने किसान महापचायत के लिए इसकी साफ सफाई की और देश दुनिया से किसान यहां आए। इसलिए यह फसल खरीद केंद्र बने, ऐसा सभी किसान चाहते हैं। सरकार के अनेक अधिकारी और कृषि विशेषज्ञ भी अंदरखाते यह कृषि मंडी ही चाहते हैं।

उन्होंने बताया कि किसी खिलाड़ी के लिए अन्न भी उतना ही जरूरी है जितना खेल। पुरानी अनाज मंडी शहर के बीच में स्थित है और वहां आसपास घनी आबादी हो जाने से भविष्य में किसानों को फसल ले जाने में दिक्कत होगी। भारतीय किसान यूनियन युवा खिलाड़ियों के लिए स्टेडियम के पूरे पक्ष में है क्यूंकि अधिकतर किसान के बच्चे ही खिलाड़ी भी हैं। लेकिन किसानों की दो मांगे हैं:-

1) – स्टेडियम किसी अन्य जगह बंजर धरती पर भी बन सकता है और ऐसी जमीन पांवटा में कई जगह उपलब्ध है।
2) – स्टेडियम HPCA के स्वामित्व में न हो क्योंकि सब जानते हैं कि यह हिमालयन प्लेयर क्रिकेट एसोसिएशन के नाम से कानपुर में रजिस्टर्ड संस्था है, जिस पर एक राजनैतिक परिवार का कब्जा है पर इसको BCCI ने मान्यता दे रखी है। ऐसी संस्था का कितना लाभ आम घरों के बच्चो को मिलेगा, इस पर भी संदेह है।

किसानों का कहना है कि सरकार पहले ही IIM के लिए बहुत उपजाऊ 1100 बीघा जमीन देकर आने वाले केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय की संभावना खत्म कर चुकी है। हर जगह किसानों की जमीनों पर नजर डाल रहे लोगो के खिलाफ ही इतना बड़ा किसान आंदोलन चल रहा है और पांवटा साहिब के किसान भी इस जमीन को किसानी कार्य में उपयोग के लिए किसी भी संघर्ष के लिए तैयार हैं।
इस बारे में भारतीय किसान यूनियन राज्य सरकार को भी लिखित में अपना पक्ष एसडीएम के माध्य्म से भेजेगी।

बैठक में भारतीय किसान यूनियन प्रदेश अध्यक्ष अनिन्दर सिंह नॉटी, मास्टर प्रीतम सिंह, ब्लॉक प्रधान जसविंदर बिलिंग, गुरजीत सिंह नंबरदार, चरणजीत सिंह जैलदार, खुशहाल सिंह, दारा सिंह, राजिंदर सिंह, बिलिंग गुरनाम बंगा, अमरजीत सिंह बंगा, अर्जुन सिंह, रमी हनी सिंह, मानक महबूब अली, अमरजीत, पिंकू, इंद्रजीत सिंह, अज्जू, गुरनाम सिंह, गामा जितेंद्र सिंह, राजा एडवोकेट इंदरजीत सिंह, भूपेंद्र सिंह, प्रदीप सिंह, प्रितपाल सिंह, हरीश चौधरी, जगदीश चौधरी, सतबीर सिंह, निशान सिंह, लवली, मानसिंह, परमजीत सिंह बंगा, परमिंदर सिंह बंगा, बिलिंग सुरेंद्र सिंह, प्रभजोत सिंह, जीवन सिंह, मास्टर जी रंजीत फौजी, रमेश, प्रधान शुकरदीन, इरफान सरोय, अरशद जाहिर आदि मौजूद थे।