चूड़धार की चोटियों ने ओढ़ी बर्फ की चादरइलाके में बढ़ी शीत लहर, घरों में दुबकने को मजबूर लोग

Local News SIRMOUR (सिरमौर) नोहरा मौसम हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / नोहराधार

सिरमौर जिले की सबसे ऊंची चोटी चूड़धार में सीजन की तीसरी बर्फबारी हुई। 12000 फुट की ऊंचाई पर स्थित आस्था का केंद्र चूड़धार तीर्थ पर एक फुट तक बर्फ जमा हो गई है। इसके अलावा हरिपुरधार, नोहराधार आदि क्षेत्रों में भी सोमवार को हल्की बर्फबारी हुई।

लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र और पहाड़ी पर्यटक स्थल चूड़धार की चोटियां सर्दियों की शुरुआत नहीं वर्ष से थक गई हैं। यहां लगभग एक से डेढ़ फुट तक बर्फ पड़ी है। हालांकि पर्यटकों और श्रद्धालुओं को अब यह नजारे सिर्फ तस्वीरों में ही देखने को मिलेंगे। क्योंकि बर्फवारी के चलते अगले 5 महीनों तक चूड़धार तीर्थ पर जाने पर रोक लगा दी गई है। चूड़धार तीर्थ के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए हैं। सिरमौर जिला की सबसे ऊंची चूड़धार पर्वत चोटी पर रविवार और सोमवार को बर्फबारी का दौर रहा। चूड़धार में इस सीजन की तीसरी बर्फबारी हुइ। चूड़धार के अलावा उपमंडल संगड़ाह के अंतर्गत आने वाले हरिपुरधार, नौहराधार व गत्ताधार आदि इलाके में भी हल्की बर्फबारी हुई। पर्यावरण, पर्यटन सहित फसलों और फलदार पौधों के लिए वरदान माने जाने वाली बर्फ दुश्वारियां लेकर भी आई है। हिमपात व बारिश के चलते क्षेत्र मे रविवार व सोमवार को घंटों बिजली गुल रही। उपमंडल मुख्यालय संगड़ाह व आस-पास के इलाकों मे रविवार रात 9 बजे से सोमवार प्रातः 9 बजे तक जहां लगातार 12 घंटे बिजली गुल रही। उधर बर्फबारी का दौर शुरू होने पर नोहराधार हरिपुरधार आदि क्षेत्रों में पर्यटकों के के पहुंचने की उम्मीद जगी है।

बर्फबारी के बाद पूरा इलाका शीतलहर की चपेट मे हैं और सोमवार को अधिकतर लोग घरों, दफ्तरों व दुकानों में हीटर व अंगीठी के सहारे दिन काटते देखे गए।‌ संगड़ाह मे सोमवार को तापमान मात्र 12 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा तथा बाजार में भी सामान्य से काफी कम लोग दिखे। मिली जानकारी के अनुसार चूड़धार में आधा फुट ताजा बर्फ गिर चुकी थी और पुरानी बर्फ को लगाकर यहां एक फुट के करीब बर्फ की परत जम चुकी है। तहसील मुख्यालय नौहराधार व आस-पास के गावों मे सोमवार दिन भर बिजली की आंख मिचौली लगी रही, जिसके चलते दुकानदार व आम लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। ग्रामीणों ने बताया कि, हर बार हल्की बारिश व बर्फबारी मे बिजली गुल हो जाती है।