क्या हिमाचली प्रमाण पत्र बेच रहे है सरकारी मुलाजिम व अधिकारी !

Local News SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

राजस्व विभाग पांवटा साहिब एक बार फिर से चर्चाओं में है। इस बार झूठे हिमाचल प्रमाण पत्र जारी करने का आरोप राजस्व विभाग पर लगे है। सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 के तहत सूचना प्राप्त करने वाले व्यक्ति ने ये खुलासा किया है जिसमे लगातार एक मीडिया हाउस के द्वारा पांवटा साहिब से लेकर पंजाब तक साक्ष्य जुटाने का दावा किया है और मामले को लेकर लगातार उच्च अधिकारीयों से संपर्क में है और सिलसिलेवार तरीके से इस मामले से पर्दा उठाने का दावा किया है।

मीडिया संसथान पीएनएन का दवा है की राजस्व विभाग पांवटा साहिब से झूठे हिमाचल प्रमाण पत्र जारी हुए है। यह गोरखधन्धा बीते लगभग एक दशक से चला हुआ है। यहां राजनैतिक वरदहस्त प्राप्त सरकारी मुलाजिम व अधिकारी हिमाचली प्रमाण पत्र बेच रहे है तथा सम्बन्धित दस्तावेजो को गायब किया जा रहा है। सूचना के अधिकार के तहत मांगे जाने पर अधिकारी वाकायदा लिखित तौर पर स्पष्ट शव्दो मेे बयां कर रहे है कि हमारे पास दस्तावेज उपलव्ध नही हुए ।

मीडिया संसथान के अनुसार राजस्व अधिकारियो व कर्मचारियो की मिली भगत से एक बडे गोरखधन्धे को अजाम दिया जा रहा है इसी गोरखधन्धे में कुछेक भूमाफिया संलिप्त पाए जा रहे हेै जिनका मुखौटा अधिकांशतया राजस्व विभाग के इर्दगिर्द ही देखा जा सकता है। भूमाफिया राजस्व कर्मियो की मिली भगत से भूमि खरीद व बेच रहे है। और कई प्रकार की तकनीकियो का प्रयोग कर सौदेबाजी हो रही है। ऐसे एक नही कई मामले प्रकाश मेें आए हैै जिसमें तकनीकी का फायदा उठाकर कई लोग करोडपति बन गए है। बताया जा रहा है की उच्च अधिकारी सम्बंधित मामले में शिकायत का इंतज़ार कर रहे है ताकि दूध का दूध व् पानी का पानी हो सके।