कुव्यवस्था के खिलाफ जारी रहेगी प्रदीप चौहान की लड़ाई

Local News SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

अवैध खनन और नदी में अवैध मार्ग को लेकर सवाल उठाने के बाद मजदूर नेता प्रदीप चौहान ने अब वन विभाग और खनन विभाग पर सवाल उठाए हैं। प्रदीप चौहान का कहना है कि भटरोग क्रशर से गिरी नदी में अवैध रूप से ट्रकों का मार्ग बनाया गया है। जिस पर वन विभाग की चुप्पी कई सवाल खड़े करती हैं।

पांवटा साहिब में आयोजित पत्रकार वार्ता में प्रदीप चौहान ने कहा कि नदी में सैकड़ों गाड़ियां चलती है, जिसकी वजह से नदी का पानी दूषित हो जाता है। वही पानी उठाऊ पेयजल योजना से उनके गांव को सप्लाई किया जाता है। उन्होंने कहा कि वन विभाग के अधिकारियों से जब इस मामले में शिकायत की गई तो श्री रेणुका जी और पांवटा साहिब वन मंडलों के डीएफओ ने उनका फोन भी ब्लॉक कर दिया है। प्रदीप चौहान ने कहा कि जब तक क्रेशर संचालकों और खनन माफिया द्वारा बनाया गया अवैध मार्ग बंद नहीं होता और उनके गांव के लोगों का भटरोग के क्रशरों पर रोजगार सुनिश्चित नहीं होता, तब तक उनके प्रयास और विरोध जारी रहेंगे। प्रदीप चौहान ने कहा कि वह इस विषय में वन विभाग के शीर्ष अधिकारियों और प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी शिकायत भेजेंगे। प्रदीप चौहान ने स्पष्ट किया कि उनकी लड़ाई खनन माफिया के खिलाफ है और वह भटरोग के क्रशरों पर अपने गांव के लोगों का रोजगार सुनिश्चित करना चाहते हैं। दरअसल बीते कल प्रदीप चौहान ने उन्हें मीटिंग के बहाने बुलाकर हमला करने की साजिश की शिकायत पावटा डीएसपी से की थी। प्रदीप चौहान ने कहा था कि यदि पुलिस ने साजिश कर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं की और उन्हें सुरक्षा प्रदान नहीं की तो बुधवार से थाने के समक्ष धरने पर बैठ जाएंगे। हालांकि डीएसपी पावटा के आश्वासन के बाद प्रदीप चौहान ने फिलहाल धरना स्थगित कर दिया है।