सिरमौर में 6 से 15 दिसम्बर तक चलाया जाएगा सडक सुरक्षा अभियान

हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – नाहन

जिला सिरमौर में 6 से 15 दिसम्बर, 2021 तक सडक सुरक्षा अभियान चलाया जाएगा यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने आज जिला सडक सुरक्षा कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
इस अभियान के दौरान जिलावासियों को मौसम और सडक के हालात के अनुसार रक्षात्मक रूप से वाहन चलाने, वाहन लाइटों का सही प्रयोग, हॉर्न का सही प्रयोग, सीट बेल्ट, सडक लाईटों की सही जानकारी, सडक पर दूसरे वाहनों से उचित दूरी, दो पहिया वाहन चालको को हेल्मेट का इस्तेमाल सहित अन्य सडक सुरक्षा से सम्बन्धित नियमों पर जानकारी प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त उपायुक्त ने जिला मंे स्कूल के बच्चों को स्कूल पंहूचाने वाली बसों व अन्य वाहनों का भी फिटनेस जांचने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए ताकि किसी भी प्रकार के सडक हादसों को रोका जा सके ।
उपायुक्त ने बताया कि सिरमौर जिला में 17 दुर्घटना संभावित स्थलों को चिन्हित किया गया है जिसे जल्द ही ठीक करने के निर्देश दिए गए। इसके अतिरिक्त जिला की सभी सडको में सडक सुरक्षा संकेतक स्थापित करने व जिला में सडक सुरक्षा गतिविधियांे पर नजर रखने के लिए जल्द से जल्द आधुनिक सीसीटीवी कैमरे स्थापित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।
रामकुमार गौतम ने अधिकारियों को राष्ट्रीय उच्च मार्ग से जुडने वाली सभी सम्पर्क सडकों पर गति अवरोधक लगाने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त सभी उपमण्डलाधिकारियों को सडक सुरक्षा समिति के माध्यम से स्थानीय यातायात प्रबन्धन योजना तैयार करने के निर्देश दिए और उपमण्डलाधिकारी शिलाई, संगडाह व राजगढ को अपने ऐसे क्षेत्रों की पहचान करने के निर्देश दिए जिन रूटों पर बसों की संख्या कम है, ऐसे सभी रूटों की पहचान कर 15 दिसम्बर से पहले क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को अवगत करवाएं ताकि ऐसे रूटों पर अतिरिक्त बसे लगाई जा सके। ताकि इन क्षेत्रों में लोग कम यातायात साधनों के कमी के कारण ओवर लोडिग के कारण हादसों का शिकार न हो।
बैठक में पुलिस अधीक्षक सिरमौर ओमापति जम्वाल ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2019 से अब तक जिला में सडक हादसों में लगभग 250 लोगों ने अपनी जान गवाई है इसके अतिरिक्त 900 से अधिक लोग धायल हुए है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 से 2021 के दौरान सडक हादसांे में जान गवाने की सख्या मंे कमी आई है।
उन्होंने जिला वासियों से वाहन चलाते समय और अधिक सर्तकता बरतने की अपील की। ताकि सडक हादसांे में जान गंवानो वालों की संख्या को शून्य किया जा सके।
उपायुक्त ने बताया कि जिला में सडक सुरक्षा कमेटी का उददेशय है कि सडक सुरक्षा के उपायो के प्रयोग द्वारा सडक हादसों को रोका जा सके। उन्होंने जिलावासियो से अपील करते हुए कहा है कि सरकार व प्रशासन द्वारा जारी सडक नियमांे का पालन करें और अपने व अपने परिवार की सुरक्षा को प्राथमिकता दें।
इस बैठक में सहायक आयुक्त प्रिंयका चन्द्रा, उमण्डलाधिकारी नाहन रजनेश कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बबीता राणा सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।