खनन माफिया की चुनौती, जेसीबी से उधेड़ा जा रहा नदियां का सीना

Local News SIRMOUR (सिरमौर) क्राइम पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

पांवटा साहिब के आसपास के क्षेत्रों में जमकर अवैध खनन हो रहा है। खनन माफिया सरेआम सरकारी संपत्ति पर डाका डाल रहे हैं। सरकारी तंत्र की नाकामी या मिलीभगत के चलते अब माफिया के लोग जेसीबी मशीनों से भी नदियों का सीना उधेड़ रहे हैं। बाता नदी के किनारे खनन माफिया दिनदहाड़े जेसीबी मशीनों से खनन को अंजाम दिया दे रहा है। नदियों पर पर अत्याचार के मामलों पर पावटा प्रशासन और खनन विभाग का मौन कई सवाल उठा रहा है।

अबैध खनन रोकने को हालांकि उच्च न्यायालय और सरकार ने सख्त आदेश पारित किए हैं। मगर पांवटा साहिब में नदियों के के किनारों पर देखकर ऐसा लगता है कि यहां अवैध खनन को सरकारी अनुमति मिल गई है। यहां अवैध खनन पर रोक जैसी कोई चीज नजर नहीं आती। पांवटा साहिब की नदियों के किनारों पर खनन माफिया का तांडव नजर आता है। नदियों पर अत्याचार नजर आता है। सिरमौर न्यूज़ नदियों पर अत्याचार के मामलों को बार बार उठाता रहा है। बाता नदी पर मैनकाइंड फार्मा पुल के पास खनन माफिया की जेसीबी दिन दहाड़े लूट के इरादों को अंजाम देती है। लेकिन हैरानी की बात यह है कि नदियों पर अवैज्ञानिक अत्याचार प्रशासन और अवैध खनन रोकने के लिए जिम्मेदार विभागों को नजर नहीं आता। बावजूद इसके प्रशासन और खनन विभाग माफिया के दबाव के चलते कोई कार्यवाही नहीं करता है। अब यह मामला प्रशासन और विभाग के उच्च अधिकारियों के समक्ष भी उठाया गया है। यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या सिर्फ खनन विभाग और वन विभाग ही आंखें मूंदे बैठा है या उच्च अधिकारी भी माफिया के दबाव में काम कर रहे हैं।