अवनीत लांबा ने शिमला में दिखाई राजनीतिक सूझबूझ, पांवटा साहिब में खलबली

Local News SIRMOUR (सिरमौर) पॉवटा साहिब हिमाचल

समर्थकों संग प्रतिभा सिंह को दी बधाई

कांग्रेस अध्यक्ष से भी मिले अवनीत

बधाई के बहाने लांबा का शक्ति प्रदर्शन

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

पांवटा साहिब में कांग्रेस के युवा नेता अवनीत लांबा मंडी संसदीय सीट पर प्रतिभा सिंह को मिली जीत की बधाई देने शिमला पहुंचे। यहां अवनीत लांबा ने प्रतिभा सिंह और विक्रमादित्य सिंह को न सिर्फ जीत की बधाई दी, बल्कि सैकड़ों समर्थकों के साथ शक्ति प्रदर्शन भी कर डाला।

अवनीत लांबा के इस शक्ति प्रदर्शन के राजनीतिक तौर पर कई मायने निकल कर सामने आ रहे हैं।
दरअसल, शिमला पहुंचे अवनीत के समर्थकों में ग्रामीण और शहरी क्षेत्र का संतुलन देखने को मिला। उनके समर्थकों में जहां ग्रामीण क्षेत्रों के क्षत्रप शामिल थे, वहीं शहरी क्षेत्र में लोहा मनवा चुके कांग्रेस नेता भी मौजूद थे। यही नहीं अवनीत लांबा के समर्थकों में सभी संप्रदायों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। अवनीत लांबा ने ऐसे समय में सही संतुलन बनाने में सफलता हासिल की है, जब पांवटा साहिब कांग्रेस स्थानीय नेताओं की महत्वाकांक्षाओं के चलते कई धड़ों में बंटी है। सभी नेता क्षेत्र और संप्रदायों के आधार पर संतुलन बिठाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन बिखरे पड़े कुनबे को समेटने में नाकाम साबित रहे हैं।

अवनीत लांबा कांग्रेस के टिकट पर पहले ही चुनाव लड़ने की मंशा जाहिर कर चुके हैं। लिहाजा प्रदेश कांग्रेस में राजनीति के लिहाज से सबसे मजबूत परिवार से नज़दीकियां उनके राजनीतिक भविष्य के लिए बेहतर मानी जा रही हैं।

बताते चलें कि मंडी चुनाव में अप्रत्याशित जीत दर्ज करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह केंद्रीय नेतृत्व की गुड बुक्स में आ गई हैं। गांधी परिवार से उनकी नजदीकियां और बढ़ गई हैं। केंद्रीय संगठन में पकड़ मजबूत हुई है। लिहाजा इस मजबूत परिवार के साथ जुड़ने से अवनीत सिंह लांबा का भी राजनीतिक कद में इजाफा हुआ है।
चुनाव में जीत की बधाई देने शिमला पहुंचे अवनीत लांबा ने न सिर्फ क्षेत्रीय संतुलन को बेहतर तरीके से साधा बल्कि प्रदेश की राजनीतिक लिहाज से भी सटीक संतुलन बनाकर रख। अवनीत लांबा समर्थकों के साथ न सिर्फ प्रतिभा सिंह और विक्रमादित्य सिंह से मिले बल्कि उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर से भी दल बल के साथ मुलाकात कर राजनीतिक सूझबूझ का परिचय दिया।
शिमला में पार्टी के मजबूत राजनीतिक परिवार और पार्टी मुख्यालय में अवनीत लांबा के शक्ति प्रदर्शन से पांवटा साहिब से कांग्रेस के टिकट पर नजरें गड़ाए बैठे नेताओं में खलबली मच गई है, जबकि पार्टी का आम कार्यकर्ता अवनीत लांबा की राजनीतिक सूझबूझ और परिपक्वता देखकर प्रसन्न हैं। दरअसल पांवटा साहिब में नेताओं की आपसी खींचतान के चलते कांग्रेस के आम कार्यकर्ता स्वयं को हाशिए पर महसूस कर रहे थे, लेकिन अवनीत लांबा के प्रयासों से कार्यकर्ताओं को पार्टी के भीतर एकजुटता का आभास होने लगा है। कार्यकर्ताओं में नई ऊर्जा का संचार हुआ है। जोकि पार्टी और अवनीत लांबा के राजनीतिक भविष्य के लिए बेहतर साबित हो सकता है ।

Leave a Reply