हिमाचल के बेस्ट डांसर का अवार्ड अपने नाम करने के बाद समाज सेवा करना चाहती हैं रेखा ठाकुर

Local News SIRMOUR (सिरमौर) हिमाचल

सिरमौर न्यूज़

सीआईए के साथ जुड़कर समाज सेवा और पढ़ाई करने के साथ-साथ कई डांस फॉर्म सीखने के बाद कथक नृत्य की ले रही है ट्रेनिंग

कहते हैं कुछ करने का जज्बा यदि दिल में हो तो उम्र मायने नहीं रखती । जी हां आज हम बात कर रहे हैं हिमाचल की एक यंगेस्ट समाज सेविका एवं हिमाचल की बेस्ट डांसर का अवार्ड हासिल कर चुकी नृत्यांगना रेखा ठाकुर की जो महज अभी 21वर्ष की है । परंतु समाज के प्रति अपनी सोच से सभी को प्रभावित करती हैं । कुल्लू जिला के रैला-शरण गांव की रहने वाली यह ग्रामीण नृत्यांगना उन ग्रामीण अभिभावकों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है जो अपनी लड़कियों को इसलिए आगे नहीं आने देना चाहते क्योंकि वह एक लड़की है । रेखा ठाकुर ने बताया कि हमारे हिमाचल में बहुत सी ऐसी ग्रामीण लड़कियां हैं जिनमें कूट-कूट कर टैलेंट भरा पड़ा है परंतु कहीं ना कहीं समाज में अभी भी लड़कियों के लिए बाहर जाकर अपना टैलेंट दिखाना अच्छा नहीं माना जाता । गौर हो कि रेखा ठाकुर बचपन से ही डांस का शौक रखती हैं तथा विभिन्न स्रोतों से विभिन्न नृत्य कलाएं सीखती आई है ।

इसी के चलते उन्होंने पंजाब के लुधियाना में आयोजित डांसिंग स्टार ऑफ़ हिमाचल में प्रथम स्थान हासिल कर बॉलीवुड सिंगर सुखविंदर सिंह सुखी द्वारा पुरस्कार प्राप्त किया है । यही नहीं अब रेखा ठाकुर मेडिकल संकाय में 12वीं करने के बाद हिंदी स्टेनो भी कर चुकी हैं तथा अब पढ़ाई के साथ-साथ सूत्रधार कत्थक एकेडमी कुल्लू से कत्थक नृत्य का प्रशिक्षण भी ले रही हैं । तथा राष्ट्रीय स्तर की एक एनजीओ सीआईए के माध्यम से समाज सेवा कर रही हैं । सीआईए के साइबर सेल के स्टेट डायरेक्टर हिमाचल प्रदेश विशाल नेगी ने बताया कि रेखा ठाकुर काफी लंबे अरसे से सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर भाग लेती है । पर्यावरण को बचाने के लिए ग्रामीणों को जागरूक करना, लड़कियों को उच्च शिक्षा दिलवाने के लिए समाज को जागरुक करना ,लड़कियों के अधिकारों के लिए आवाज उठाना इत्यादि कार्यों के लिए तत्पर रहती हैं इसी के चलते सीआईए के उच्च अधिकारियों ने भी रेखा ठाकुर को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है । रेखा ठाकुर ने अपनी कामयाबी का श्रेय अपने माता-पिता को देते हुए सभी अभिभावकों से अपील की है कि लड़कियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाने में सहायता करें तभी समाज को हम बहतर बना सकते हैं ।

Leave a Reply