उपचुनाव : कांग्रेस ने लोकसभा व विधानसभा के लिए टिकट की फाइनल

SHIMLA (शिमला) हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / शिमला

प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में लगी मोहर, आधिकारिक घोषणा बाकी..

मंडी लोकसभा चुनाव क्षेत्र से प्रतिभा सिंह का चुनाव लड़ना तय..

जुब्बल कोटखाई, फतेहपुर से मात्र एक-एक नाम आगे कर ब्लॉक कांग्रेस ने दिखाई एकजुड़ता..

हिमाचल प्रदेश में प्रस्तावित मंडी लोक सभा व अन्य तीन विधानसभा चुनाव को लेकर सियासत गर्मा चुकी है। इसी बीच कांग्रेस ने टिकट आवंटन में भाजपा से पहले प्रत्याशी तय किए हैं।

जिसमें मंडी लोक सभा चुनाव क्षेत्र से पूर्व मुख्यमंत्री राजा बीरभद्र सिंह की पत्नी व पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह के नाम पर मोहर लगी है। हिमाचल कांग्रेस चुनाव समिति की हामी बाद आलाकमान ने भी स्वीकृति दे दी है, जिसकी मात्र अब आधिकारिक घोषणा होना बाकी हैं।

पार्टी के पुख्ता सूत्रों से आई खबर अनुसार प्रदेश के तीन अन्य विधानसभा में से जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र से ब्लॉक कांग्रेस ने मात्र एक रोहित ठाकुर के नाम पर एकजुटता दिखाते हुए प्रदेश चुनाव समिति के लिए नाम भेजा था। जिसे चुनाव समिति ने स्वीकृति देते हुए इसे हाईकमान को प्रेषित किया था। दीगर रहे कि जुब्बल कोटखाई से कांग्रेस पार्टी में टिकट को लेकर कोई खींचतान नहीं देखी गई है, ऐसे में इस सीट पर भाजपा को जीत के लिए कड़ी मशक्कत करने के आसार दिख रहे हैं।

दूसरे नंबर पर अर्की विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस में दो दावेदार सामने आए थे। जिनमें राजेंद्र ठाकुर व संजय अवस्थी शामिल थे। बताया जा रहा है कि संजय अवस्थी सुक्खू गुट समर्थक रहे हैं, वह विद्या स्टोक्स के भी प्यादे माने जाते रहे हैं। उन्होंने वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में अपने प्रतिद्वन्दी तत्कालीन सिटिंग विधायक गोबिंद राम शर्मा को खासी टक्कर दी थी, हालांकि वह लगभग 2075 वोटों से पिछड़ गए थे। ऐसे में अब कांग्रेस ने संजय अवस्थी के नाम पर मोहर लगा दी हैं।

तीसरे नम्बर पर पतेहपुर विधानसभा क्षेत्र हैं। जहां से कांग्रेस ने भवानी पठानिया पर दांव खेलने की ठानी हैं। पार्टी ने उनके नाम को फाइनल किया है। ब्लॉक कांग्रेस ने यहां से भी मात्र 1 नाम प्रदेश चुनाव समिति को भेजा था, जिस पर वहां से स्वीकृति मिली है।

देखा जाए तो कांग्रेस में अर्की विधानसभा क्षेत्र से दो के नाम सामने आए थे, जबकि जुब्बल कोटखाई व फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र के अलावा मंडी लोक सभा के लिए एक-एक प्रत्याशियों के नाम राज्य चुनाव समिति को भेजे गए थे।

ऐसे में अब आलाकमान ने भी स्वीकृति दे दी हैं। मात्र अब इन नामों की पार्टी द्वारा आधिकारिक घोषणा होना बाकी है। क्यास लगाए जा रहे हैं कि अब कांग्रेस पार्टी अपने चारों प्रत्याशियों की सार्वजनिक घोषणा कभी भी कर सकती है।