उपचुनाव के लिए 3 सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशी लगभग तय, अर्की में फंसा पेंच

Local News हिमाचल

सिरमौर न्यूज़

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस तीन विधानसभा एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव के लिए कमर कस चुकी है। कांग्रेस चुनाव को सत्ता के सेमीफाइनल की तरह लड़ने के मूड में नजर आ रही है। पार्टी के सूत्रों की माने तो तीन सीटों पर पार्टी के प्रत्याशी लगभग तय हो गए हैं। नामों की महज आधिकारिक घोषणा बाकी रह गई है। मंडी संसदीय सीट पर कांग्रेस पूर्व सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह पर दांव खेल सकती है।

हालांकि मंडी लोकसभा सीट पर प्रत्याशी का चयन कांग्रेस के लिए सबसे अधिक संवेदनशील मामला रहा। मगर प्रतिभा सिंह को प्रत्याशी बनाए जाने के सवाल पर विधायक विक्रमादित्य सिंह ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि वह और उनका परिवार कांग्रेस के निष्ठावान कार्यकर्ता है। उन्हें जो भी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी उसे बखूबी निभाने के लिए तैयार रहेंगे। उधर जुब्बल कोटखाई विधानसभा सीट के लिए पूर्व मुख्य संसदीय सचिव (सीपीएस) रोहित ठाकुर को मजबूत प्रत्याशी माना जा रहा है, और रोहित ठाकुर को ही मैदान में उतारने की तैयारी चल रही है। फतेहपुर विधानसभा सीट पर पूर्व मंत्री स्वर्गीय सुजान सिंह पठानिया के बेटे भवानी सिंह पठानिया प्रत्याशी हो सकते हैं। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह स्वर्गवास के बाद खाली हुई अर्की विधानसभा सीट पर अभी पेच फंसा हुआ है। अर्की सीट के लिए संजय अवस्थी और राजेंद्र ठाकुर टिकट की दौड़ में हैं। इनमें से संजय अवस्थी को मजबूत प्रत्याशी माना जा रहा है।

उपचुनाव को लेकर प्रदेश कांग्रेस और पार्टी प्रभारियों ने सर्वे सहित जमीन स्तर पर अधिकतर काम निपटा लिए हैं। अब सर्फ प्रत्याशियों के नामों पर आलाकमान की मुहर लगना बाकी है। दरअसल कांग्रेस ऐसे मजबूत और दमदार प्रत्याशी मैदान में जाना चाहती थी जिनके चयन पर विरोध के स्वर न उठें और पार्टी के भीतर कोई कलह पैदा न हो। इसके लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने चारों सीटों पर सर्वे करवाया है। प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी संजय दत्त ने हर विधानसभा क्षेत्र में बैठकें कर फीडबैक हाईकमान को सौंपा है।