पुलिस की जोरदार कार्रवाई ,खोदा पहाड़ निकला चूहा

Local News पॉवटा साहिब स्वास्थ्य हिमाचल


सिरमौर न्यूज़ – पांवटा साहिब

शनिवार शाम को पांवटा साहिब में नशा माफियाओं के खिलाफ पुलिस ने लाव लश्कर के साथ छापेमारी को अंजाम दिया। छापेमारी के दौरान पुलिस ने पांवटा साहिब के वार्ड नम्बर 9 से स्मेैक सहित महिला को गिरफ्तार कर लिया है। सूत्रो के अनुसार पुलिस ने लगभग 9.6 ग्राम स्मैक सहित महिला को गिरफ्तार किया है। जिस महिला के घर से 9.6 ग्राम स्मैक पकड़ी गयी है वो महिला नशे की तस्करी के मामले में पहले भी लगभग डेढ वर्ष कारावास काट चुकी है। हाल ही में कफोटा में जिन युवकों को स्मेक के साथ गिरफ्तार किया था उनके व्यान के बाद पुलिस ने इस करवाई को अंजाम दिया। प्रारम्भिक पूछताछ के बाद आरोपी युवक ने पुलिस में व्यान दिया था कि वह कथित महिला से स्मैक खरीद कर लाया था। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने छापेमारी को अंजाम दिया।
छापेमारी के दौरान भारी संख्या में पुलिस मोके पर पहुंची थी, फिल्मी अंदाज में इस करवाई को अंजाम दिया गया। मोके पर पुलिस का लाव-लश्कर देखने से लग रहा था की पुलिस के हाथ बहुत बड़ी कामयाबी लगने वाली है लेकिन घंटो तक की गयी तलाशी के बाद पुलिस के हाथ सिर्फ 9.6 ग्राम स्मैक ही लगी ऐसा सूत्र बता रहे है। यह भी बताया जा रहा है की महिला ने पहले ही स्मेक को ठिकाने लगा दिया। पुलिस की कार्रवाई से ये पंक्तियां चरितार्थ होती नज़र आ राही है “खोदा पहाड़ निकला चूहा”

बताते चले की पांवटा साहिब में स्मैक जैसे जहरीले नशे ने युवा पीढ़ी को बर्बाद कर दिया है , यहाँ स्मैक युवाओं की नसों में जहर बनकर दौड़ रहा है। शहर के प्रवेश द्वार वार्ड नंबर- 9 में स्मैक बेचने का धंधा करने वालो की संख्या बहुत ज्यादा बताई जा रही है , जिसे लेकर कुछ वर्ष पहले पुलिस ने बड़ी कार्रवाई भी की थी। हालाँकि पुलिस के ख़ुफ़िया तंत्र को एक – एक ठिकाने का पता है लेकिन जब बड़े अधिकारी कार्रवाई करने पहुँचते है तो घर के भेदी इन माफियाओं को पहले ही सूचना पहुंचा देते है की अब करवाई होने जा रही है और ये शातिर अपराधी बच जाते है। जब तक पुलिस अधिकारी घर के भेदियों पर अंकुश नहीं लगा पाती नशे का धंधा करने वाले शातिर लोग पुलिस की कार्रवाई से बचते रहेगे। जिसके लिए पुलिस आला अधिकारीयों को बेहतर रणनीति बनाने की जरुरत है। कई बार सामाजिक संस्थाएं पुलिस को उन ठिकानो के बारे में भी बता चुकी है जहां एकत्र होकर स्मैक और केमिकल नशा करने वाले युवको की मंडलियां बैठती है लेकिन उन ठिकानो पर भी लम्बे समय से एक भी छापेमारी नहीं की गयी , जहाँ से पुलिस को यह जानकारी मिल सकती है की ये नशा युवा कहाँ से खरीद रहे है। सामाजिक संगठनो का मानना है की पांवटा साहिब में नशा माफियाओं के खिलाफ बड़े अभियान को चलाने की जरूतर है जिसमे आम लोगो को भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी।