तख्ता पलट का भय या कोरोना का डर। यूनियन में धरना व नारेवाजी। दोनो गुट आमने सामने

Local News पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज/पांवटा साहिब

शहर की ट्रक यूनियन में चुनाव को लेकर पहले तो गहमागहमी हुई और फिर जब सत्तासीन पदाधिकारियो ने कुर्सी का मोह रखते हुए चुनाव टाल दिए तो आपरेटर्स की मांगो को लेकर जोरदार धरना प्रदर्शन कर दिया गया।

सनद रहे कि बीते कई दिनो से सिरमौर ट्रक आपरेटर्स यूनियन में दो सालो से चुनाव नही हुए थे और हिटलरशाही व तुगलकी फरमान चल रहे थे जिसके चलते छौटै व मझोले आपरेटर्स त्राहि त्राहि कर चुके थे। और आपरेटर्स का ज्वालामुखी भडक गया था। दो साल से चुनाव नही हुए तो एक गुट ने स्थानीय प्रशासन की ओर से डीएसपी पांवटा को शिकायती पत्र भी दिया और चुनाव करवाने की गुहार लगाई इतने में करफ्यू की घोषणा सरकार द्धारा कर दी गयी। सत्ताधारी गुट पहले ही मन बना चुका था कि चुनाव नही करवाने और कुछेक लोगो को विरोधी गुट के पास समझौता नामा के लिये भेजा जहां आपसी निर्णय हुआ कि चुने हुए लोगो को भंग करके सर्व सम्म्ति से दोनो गुटो की ओर से साझा मंच तैयार कर दिया जाए ताकि आपरेटर्स परेशान ना हो किन्तु बात बेनतीजा रही।

वीरवार को जनरल हाउस हुआ किन्तु बेनतीजा रहा काफी हो हल्ला के बाद चुनाव स्थगित कर दिए गये। इतने में आग बबूला हुए आपरेटर्स बलजीत नागरा के नेतृत्व में हाल में धरने पर बैठ गए और जोरदार नारेवाजी करने लगे।

चुनावो को लेकर ऐसा पहली मर्तबा हुआ है जब यूनियन में नारेवाजी इस प्रकार की हुई है जिससे सहज ही अन्दाजा लगाया जा सकता है कि एन्टी इन्कम्बेसी जोरो शोरो से है।