पैराएथलीट वीरेंद्र को सड़क सुरक्षा के प्रति जिलावासियों को जागरुक करने के लिए उपायुक्त सिरमौर ने किया सम्मानित

Local News नाहन हमारे बारे में

सिरमौर न्यूज़ / नाहन

पैराएथलीट वीरेंद्र ने जिलावासियों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरुक करने के लिए संगड़ाह सेे शुरु की 90 किलोमीटर की दौड़ आज दोपहर एक बजे उपायुक्त कार्यालय के परिसर नाहन में  पहुच कर पूरी की, जहॉ उपायुक्त सिरमौर डा0 आर0के परूथी ने वीरेंद्र का स्वागत किया और 11000 की राशी से उन्हे सम्मानित किया।
परिवहन विभाग ने आज दोपहर 12 बजे नाहन के यशवंन्त विहार में पैराइथलीट वीरेंद्र का स्वागत किया जहां से अर्न्तराष्ट्रीय एथलीट सीमा परमार, टीजीटी सर्वमंगल सहित 35 बच्चों ने उनके साथ इस दौड में भाग लिया। यह दौड माल रोड नाहन मार्ग से लोगो को सडक सुरक्षा का सन्देश देते हुए उपायुक्त कार्यालय  के परिसर में सम्मपन हुई।
इस अवसर पर उपायुक्त सिरमौर ने अर्न्तराष्ट्रीय एथलीट सीमा परमार, टीजीटी सर्वमंगल  को 1100-1100 रूपये की राशी भेट की और सभी छात्र व छात्राओं को प्रमाण पत्र प्रदान किये।
उपायुक्त सिरमौर ने बताया कि जिला प्रशासन लोक निर्माण विभाग व पुलिस के साथ मिलकर ऐसे हॉट स्पाट का पता लगाया जा रहा है  जहां दुर्धटना की अधिक सम्भवना बनी रहती है। ऐसे  सभी स्पाट को ठीक किया जायेगा। इसके अतिरिक्त इस पुरे अभियान के दौरान लोगों को ओवर स्पीड में व शराब पीकर गाडी न चलाने  के लिए जागरूक किया जायेगा। जो लोग ओवर स्पीड  के मामले में उल्लघनकर्ताओं का चलान किया जायेगा।
उन्हांेने बताया कि जिला में सड़क हादसों पर लगाम लगाने के लिए लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए आज से 17 फरवरी, 2021  तक रोड सेफ्टी माह जागरूकता अभियाना चलाया जाएगा। इस पूरे माह के दौरान जिला में विभिन्न गतिविधियों द्वारा लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए अनेक जागरूकता कार्यक्रम व शिविरों  का आयोजन भी किया जाएगा।
आरटीओं सोना चौहान ने बताया कि लोगों को सडक सुरक्षा के बारे में जागरूक करने के लिये आज नाहन के  हिम जन मंच व मंथन गु्रप के  कलाकारों ने बस स्टैड नाहन पर नुक्क्ड नाटक के माध्यम से सडक दुर्धटना के समय गुड सेमी रिटन के बारे में जागरूक किया।
उन्होने बताया कि सडक दुर्धटना होने पर शुरू का एक घण्टा जिसे गोलडन आवर कहते है इस आवर के बीच दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल में पहुॅचाया जाये तो उस व्यक्ति के बचने की संभावना बढ जाती है। उन्होने बताया कि के  हिम जन मंच व मथन गु्रप के कलाकारों ने लोगों को नुक्क्ड नाटक के माध्यम से बताया की अब  दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल पॅहुचाने वाले व्यक्ति से पुलिस किसी भी प्रकार की पूछताछ नही करेगी और व्यक्ति चाहे तो अपनी पहचान गुप्त रख सकता है।