यदि कोरोना से निजाद के लिए बनी वैक्सीन तो राजगढ़ के सुनील बनेंगे दानवीर

Local News राजगढ़ हिमाचल

पवन तोमर – राजगढ़

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में कहर बरपाया हुआ है लेकिन अबतक कोई इलाज या दवा नहीं बन पाई है, जो इस वायरस को ख़त्म कर दे ,ये सवाल लगातार उठ रहा है कि कोरोना वायरस से जान बचाने वाली दवा या टीका कब तक बन जाएगा? कब तक बनेगा कोरोना का टीका यानी वैक्सीन? इसके लिए रिसर्च पूरे ज़ोरों से चल रही है। यदि वैक्सीन तैयार हो जाये तो इंसानों पर इसकी टेस्टिंग भी शुरू होगी ताकि इसके असर का पता लगाया जा सके। इस प्रक्रिया के लिए इंसानों के शरीर की भी जरूरत होगी ,जिसे देखते हुए देश व् प्रदेशो से कई दानवीर अपना शरीर दान करने के लिय आगे आये है जिसमे से जिला सिरमौर राजगढ़ की साथ लगती ग्राम पंचयात कोटला बांगी के गाँव जघेड के स्थानीय निवासी सुनील रोशन भी आगे आये है सुनील ने बताया की उन्होंने पी एम ओ ऑफिस में मेल के माध्यम से अपने शरीर को कोरोना का टीका यानी वैक्सीन की टेस्टिंग के लिए कहा है। सुनील ने मेल के माध्यम से क्या लिखा है आप भी पढ़े :-

श्री मान नरेंद्र मोदी,
माननीय प्रधान मंत्री,
भारत सरकार।

विषय: कोरोना वायरस (Covid 19) शोध के लिए अपना शरीर दान देने हेतु।

श्री मान जी, माननीय प्रधान मंत्री जी जिस तरह से (Covid 19) नामक वायरस ने भारत ही नहीं अपितु पूरे विश्व में दहशत फैलाई है और अभी तक जिसका इलाज संभव नहीं हो पाया है। मैं जानता हूं कि भारत के अलावा पूरे विश्व के वैज्ञानिक इस वायरस (Covid 19) से निजात पाने के लिए दिन रात इस विषय पर काम कर रहे है जिसमें उन्हें शोध के लिए मानव शरीर की आवश्यकता होगी। अतः महोदय जी मैं सुनील रोशन, पुत्र श्री रोशन लाल, गांव जघेड़, तहसील राजगढ़, जिला सिरमौर, हिमाचल प्रदेश, स्वेच्छा से बिना किसी लालच लोभ के इस प्रयोग के लिए अपना शरीर समर्पित करना चाहता हूं। मै जानता हूं कि इसके प्रयोग में जान का जोखिम है बावजूद इसके मुझे खुशी होगी कि मैं किसी तरह से देश और दुनिया के काम आ सकूं।

कृपया करके मेरे शरीर को इस प्रयोग हेतु स्वीकार करने की कृपा करें। ………