22 मार्च को राजगढ़ में होगा सर्वजातीय महासम्मेलन का आयोजन

Local News राजगढ़ हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – राजगढ़

जिला सिरमौर के राजगढ़ क्षेत्र में जातीय भेदभाव व् छुआछुत को मिटाने के लिए बुद्धिजीवी वर्ग आगे आया है। क्षेत्र में फेली जातीय भेदभाव की खाई को मिटाने के लिए राजगढ़ के सनातन धर्म मन्दिर राजगढ़ से हुंकार भरी जाएगी जिसके लिए शनिवार को हिन्दू सर्वजातीय लोगो ने बैठक का आयोजन कर आगे की रणनीति तैयार की।
उपमंडल राजगढ़ में हिन्दू सर्वजातीय लोगो एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया जिसमे निर्णय लिया गया की आगामी 22 मार्च को जातीय भेदभाव व् छुआछूत को मिटाने के लिए सर्वजातीय सम्मेलन करने का निर्णय लिया है। क्षेत्र के जाने माने समाज सेवी रतन हाब्बी,विजय भरद्वाज ,अधिवक्ता सुभाष ठाकुर ,सुनील शर्मा , जिया लाल कश्यप , रतन कश्यप, हरदेव भारद्वाज,राज कुमार ठाकुर , व्यापार मंडल के अध्यक्ष अरविन्द ठाकुर ,सोमदत शर्मा ,पदम् शर्मा,जितेन्द्र ठाकुर ,प्रमोद पुंडीर ,अनुज ठाकुर ,भानु चोधरी ,विकल्प ठाकुर ,सुनील, जोंड़ा राम , ,हरिदास ,नरेश सहित कई लोगो ने क्षेत्र में जातीय दुर्भावना के चलते हो रही प्रताड़ना की बढ़ रही घटनाओं के मध्य नजर इस विषय पर गहनता से चर्चा की। निर्णय लिया गया कि आगामी 22 मार्च को राजगढ़ के सनातन धर्म मन्दिर के प्रांगन में सर्वजातीय पंचायत की जाएगी। बैठक में उपस्थित जनों ने छुआछुत की वारदातों और पुलिस के पास दर्ज हो रहे झूटे मामलों के चलते गहरी चिंता प्रकट की। इस अवसर पर बुद्धिजीवियों द्वारा कहा गया की अब एक सभ्य समाज की स्थापना करने का जिम्मा हर नागरिक का है। दुनिया चाँद पर पहुँच चुकी है और आज के कुछ लोग जातीय भेदभाव के मकड़जाल में फसे पड़े है। जिसके लिए क्षेत्र के हरएक बुद्धिजीवी वर्ग को आगे आना होगा। भविष्य में अनुसूचित जाती के साथ सामान्य जातियों द्वारा हो रहे मामलो को रोका जा सके साथ ही अनुसूचित जाती अत्याचार कानून का दुरूपयोग भी बंद हो सके। सभी ने सोशल मिडिया और समाचार पत्रों के माध्यम से क्षेत्र क समस्त जातियों के बुद्धिजीवी लोगो को इस पंचायत में ज्यादा से ज्यादा संख्या में आने के लिय आमंत्रित किया है। जब क्षेत्र के सभी जाती के लोग इस सर्व जातीय महासम्मलेन में भाग लेंगे और अपने अपने विचार एक दुसरे के समक्ष रखंगे तभी आपसी जातीय भेदभाव सम्बन्धी दूरियां धीरे धीरे समाप्त होगी। राजगढ़ के सनातन धर्म मंदिर मे ठीक 11 बजे बैठक शुरू की जाएगी। इस महासम्मेलन में ही सभी जातियों से सम्बन्ध रखने वाले लोगो की एक कमेटी का गठन किया जायगा ताकि भविष्य में किसी भी परिस्थिति में कोट कचहरी में जाने से पहले आपस में मामले मिटने की पूरी कोशिश की जायगी |