ठेकेदार की लापरवाही – अधर में लटका कोटलाबांगी स्कूल भवन का निर्माण

Local News राजगढ़ हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – राजगढ़

विधानसभा क्षेत्र पच्छाद के तहत पझौता घाटी के वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कोटला बांगी में स्कूल भवन का निर्माण कार्य अधर में लटका पड़ा है। ठेकेदार और लोक निर्माण विभाग की लापरवाही के चलते पिछले अढाई वर्षों से निर्माण कार्य लटका पड़ा है। लापरवाही का आलम यह है की निर्माणाधीन भवन में कक्षाएं लगाई जा रही है जिससे बच्चो की जान भी जोखिम में डाली जा रही है।
स्थानीय पंचायत के उप प्रधान सुभाष चंद ने लिखित रूप में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार के हर स्तर पर पिछले डेढ वर्ष से लगातार स्कूल भवन निर्माण बारे गुहार लगाई जा रही है परंतु आज तक समाधान नही हो सका है । उन्होने बताया कि 12 दिसंबर 2019 को उनके द्वारा मुख्यमंत्री हेल्पलाईन 1100 पर शिकायत की गई थी और जिस पर सीएम कार्यालय द्वारा निर्माणाधीन भवन में बच्चों को न बिठाया जाने बारे स्कूल प्रधानाचार्य को आदेश जारी किए गए थे परंतु स्कूल प्रबंधन द्वारा सीएम के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। स्कूल प्रशासन द्वारा इस वर्ष स्कूल खुलने के उपरांत दस जमा एक और दो की कक्षाएं निर्माणाधीन भवन में ही लगाए जा रही है जोकि बच्चों के बैठने के लिए असुरक्षित है ।
सुभाष चंद ने बताया कि स्कूल भवन का निर्माण कार्य 10 अगस्त 2017 को पीडब्लयूडी द्वारा आरंभ किया गया था जिसके अंतर्गत आठ क्लासरूम निर्मित किए जाने थे जिसके लिए सरकार द्वारा पूरा पैसा विभाग को जारी किया जा चुका है परन्तु विभाग और ठेकेदार की लापरवाही के चलते आज तक पूरा नहीं हुआ जिस कारण स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने वाले करीब दो सौ बच्चों को पहले पुराने मिडल स्कूल के कमरों के बाहर बरामदे अथवा खुले आसमान के नीचे बैठकर शिक्षा ग्रहण करते थे और अब निर्माणाधीन भवन में कक्षाऐं बिठाई जा रही है। उन्होने बताया कि उनके द्वारा गत वर्ष 8 सिंतबर को राजगढ़ के फागू में आयोजित जनमंच में इस मुददे को उठाया गया था और डॉ राजीव बिंदल ने जनमंच में एक माह के भीतर रि-टैंडरिंग करने के निर्देश दिए गए थे परंतु आज तक इस स्कूल भवन केे अधूरे कार्य में एक ईंट भी नहीं लगी ।

क्या कहते है अधिकारी ?

“इस भवन के लिए सरकार द्वारा 68 लाख की राशि स्वीकृत की गई थी परन्तु ठेकेदार काम छोड़कर चला गया था। इस अधूरे कार्य की रि-टैंडरिंग करवाई गई थी परंतु जिस ठेकेदार के नाम टैडर अवार्ड हुआ था उसने काफी कम रेट भरे गए थे जिस कारण अभी फाईनल प्रक्रिया पूर्ण होने में विलंब हो रहा है और अब रि-टैंडरिंग करवाने की प्रक्रिया प्रगति पर है” – नरेन्द्र वर्मा , अधीशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग राजगढ़