राजगढ़ यूनिट की 16 पंचायतों में आईडीपी के तहत होगा हरियाली का सूत्रपात-आलोक

Local News राजगढ़ हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – राजगढ़

प्रदेश की सबसे बड़ी महत्वकांक्षी एकीकृत विकास परियोजना के अंतर्गत राजगढ़ यूनिट की 16 पंचायतों को शामिल किया गया है जिससे इन पंचायतों में वर्षा पर आधारित खेतीहर भूमि में हरियाली का सूत्रपात होगा ।
यह जानकारी आईडीपी राजगढ़ यूनिट के प्रभारी एवं वन प्रसार अधिकारी आलोक ठाकुर ने वीरवार को भाणत पंचायत के पंचायत घर फागू में बेस लाईन सर्वे के दौरान दी । उन्होने कहा कि इस परियोजना का मुख्य उददेश्य जल सरंक्षण और वनीकरण को बढ़ावा देना है ताकि वर्षा पर आधारित खेतीहर भूमि को सिंचित योग्य बनाया जा सके ।

संगड़ाह ब्लॉक की इन 16 पंचायतों को लाया गया है परियोजना में

उन्होने बताया कि परियोजना के राजगढ़ यूनिट के अंतर्गत राजगढ़ और संगड़ाह ब्लॉक की 16 पंचायतों को लाया गया है जिनमें राजगढ़ ब्लॉक की ग्राम पंचायत दीदग, छोगटाली, दाहन, बोहल टालिया, भूईरा, भाणत तथा संगड़ाह ब्लॉक की ग्राम पंचायत देवना , नौहराधार, भुटली मानल, भराड़ी, लानाचेता, बड़ोल, सेर तंदुला, गेहल, सांगना और चौकर शामिल है । उन्होने बताया कि इस परियोजना के तहत प्रथम चरण में चयनित पंचायतों में बेस लाईन सर्वे किया जा रहा है जिसमें वर्षा पर आधारित भूमि, उपलब्ध प्राकृतिक पारंपरिक जल स्त्रोत, लोगों की आजिविका का साधन इत्यादि का आकलन किया जा रहा है । उन्होने बताया कि सर्वे पूर्ण होने के उपरांत उपलब्ध प्राकृतिक जल स्त्रोतों के आसपास शीघ्र बढ़ने वाले पौधे बांस, धरेक आवंला इत्यादि लगाए जाएगें ताकि जल स्त्रोत में वृद्धि हो सके । जल स्तर में वृद्धि होने के उपरांत इस जल को किसानों के खेतों तक पहूंचाने के लिए टैंक इत्यादि का निर्माण किया जाएगा ताकि किसान वर्षा जल पर आधारित न रहकर उपलब्ध जल से नकदी फसलों का उत्पादन करके अपनी आय बढ़ा सके । इसके अतिरिक्त वर्षा जल के संग्रहण के लिए जोहड़, तालाब, चैक डेम इत्यादि भी निर्मित किए जाएगें ।

परियोजना में प्रदेश की 428 पंचायतों में 46 पंचायतें सिरमौर की

जिला परियोजना अधिकारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि प्रदेश सरकार और विश्व बैंक के साथ इस परियोजना का एमओयू प्रक्रिया अंतिम चरण पर है और इस महत्वकांक्षी परियोजना के तहत प्रदेश की 428 पंचायतों का चयन किया गया है जिनमें 46 पंचायतें सिरमौर की शामिल है । उन्होने बताया कि सिरमौर की चयनित पंचायतों को तीन यूनिट राजगढ़, नाहन और पांवटा में बांटा गया है जिसमें नाहन और पांवटा यूनिट में 15-15 और राजगढ़ यूनिट में 16 पंचायतों को रखा गया है ।