शराब के ठेको पर मची लूट , सरेआम डाला जा रहा डाका

Local News क्राइम पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / नाहन

जिला सिरमौर में शराब के ठेको पर लूट मची है , शराब के ठेकेदार अपने सेल्स मेन के जरिए ग्राहकों को लूटने का काम करवा रहे है। मदिरा के दीवानों के साथ हो रही इस खुली लूट को लेकर सम्बंधित विभाग ,जिला प्रशासन और सरकार मौन है। शिकायतों के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही है जो विभागीय अधिकारीयों और शराब के ठेकेदारों की मिलीभगत की तरफ इशारा कर रही है।
सिरमौर जिले में शराब के अधिकतर ठेकों शराब की बिक्री प्रिंट रेट से अधिक दामों पर की जा रही है। बार बार शिकायतो के बावजूद विभाग शराब ठेकेदारों की मनमानी पर कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। प्रिंट रेट से अधिक दामों पर शराब बेचने की तस्दीक करते और अधिक दाम वसूलने के कारणों का खुलासा करते शराब विक्रेताओं के कुछ वीडियो भी सामने आए हैं। सरकारी मिलीभगत से खरीदारों की जेबों पर डाका डाला जा रहा है। शिकायत करते हैं तो सुनवाई नहीं होती। मनमानी के इस गोरखधंधे में शराब के कारोबारी लाखों के वारे न्यारे कर रहे हैं और आम खरीदार लुटता जा रहा है। जिम्मेदार विभाग कानों में तेल डाल कर सो गए। तमाम सरकारी दावों और विभाग की सख्ती के बावजूद शराब के ठेकेदार मनमाने दामों पर शराब की बिक्री कर रहे हैं। सिरमौर जिले में शहरी क्षेत्रों के कुछ ठेकों को छोड़कर अन्य लगभग सभी ठेकों पर शराब के मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। बार-बार शिकायत होने पर भी शराब के ठेकेदारों की मनमानी नहीं रुकी है। इस बीच शराब की दुकानों के कुछ ऐसे वीडियो सामने आए है जिसमें विक्रेता प्रिंट रेट से अधिक दामों शराब बेचने के कारणों का खुलासा कर रहे हैं।

सराहां से लेकर राजगढ़ के अधिकतर ठेको पर एमआरपी से ज्यादा की बसूली

प्रिंट रेट से अधिक दामों पर शराब बेचने और खरीदारों से मनमाने दाम लेने के अधिकतर मामले सराहा,संगड़ाहा, शिलाई ,राजगढ़ और पांवटा क्षेत्र में सामने आ रहे हैं। दुकानों पर शराब के विक्रेता साफ कहते हंक कि ठेकेदार के आदेशों पर उन्हें यह दाम वसूलने पड़ रहे हैं। इस खुलासे की जो वीडियो सामने आये है उसके अनुसार ठेकेदार दुकानों पर सेल्समैन को वेतन नहीं देते। इसके बदले उन्हें ऊंचे दाम वसूलने की छूट देते हैं। व्यवस्था यह है कि सेल्स मैन प्रिंट रेट से अधिक दाम वसूलेंगे। उसका कुछ हिस्सा शराब के ठेकेदार को देंगे और बाकी हिस्सा अपने वेतन या मेहताने के रूप में अपने पास रख ले। क्षेत्र के अधिकतर ठेके एक रसूखदार के पास है जिसकी ऊँची पहुंचा बताई जा रही है , जिसके चलते सम्बंधित विभाग के कर्मचारी कोई कार्रवाई नहीं कर पाते है।

क्या कहते है अधिकारी ?

“ओवर चार्जिंग को लेकर जिला सिरमौर में अभी तक एक चालान किया गया है , समय समय पर निरिक्षण किया जाता है। यदि कोई शिकायत मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी , प्रिंट रेट से अधिक किसी भी ठेके पर शराब नहीं बेचीं जा सकती है। यदि किसी से ज्यादा पैसे बसूले जा रहे है तो वे इसकी शिकायत करें “- जीडी ठाकुर, अतिरिक्त आयुक्त, जीएसटी