चार लेडी डॉ. होने बाद भी पांवटा अस्प्ताल में मेडिकल करवाने को भटकती रही नाबालिग दुराचार पीड़िता

Local News क्राइम चिकित्सा पॉवटा साहिब स्वास्थ्य हिमाचल

सिरमौर न्यूज़

सिविल अस्पताल पांवटा में चार लेडी डॉक्टर होने बाद भी नाबालिग दुराचार पीड़िता को मैड़िकल करवाने के लिए रातभर भटकना पड़ा। बाद में आनन फानन में उसे नाहन रैफर किया गया।
जानकारी अनुसार माजरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत पंचायत पल्होडी से 13 वर्षिय बच्ची के साथ दुराचार की शिकायत का एक मामला सामने आया हैं। माजरा में शिकायत दर्ज करवा कर पीड़िता को एक महिला पुलिस आरक्षी व परिजनों के साथ सिविल अस्पताल पांवटा में शनिवार शाम साढ़े 7 बजे लाया गया।

बता दें कि यू तो पांवटा सिविल अस्पताल में 4 महिला डाक्टर्स हैं। बावजूद इसके पांवटा अस्पताल प्रशासन एक दुराचार पीड़ित 13 वर्षीय बच्ची के मैडिकल के लिए चार घंटे तक एक महिला डाक्टर का इंतजाम नहीं कर पाया। जबकि दो महिला डाक्टर्स अस्पताल में देर रात मौजूद भी रही। शाम साढ़े 7 बजे अस्पताल से सिनियर डाक्टर द्वारा रेप पीड़िता के बारे में अस्पताल एसएमओ को जानकारी भी दी गई। उसके बाद तकरीबन रात साढ़े 11 बजे दो महिला डॉक्टर अस्पताल भी पहूंची थी, लेकिन दोनों लेड़ी डाक्टर्स ने रेप पीड़ित बच्ची पर जरा भी तरस नही खाया और बिना मैडिकल किए इस रेप पीड़िता को नाहन के लिए रैफर करवा दिया।
इस बारे पांवटा सिविल अस्पताल के डाक्टर कमाल पासा ने बताया कि दो लेड़ी डाक्टर्स छुट्टी पर थी और एक लेड़ी डाक्टर ट्रेनिंग पर है। इस लिए मामले को नाहन रैफर किया गया है।