स्वरोजगार हेतु माजरा पंचायत घर में आयोजित हुआ जागरूकता शिविर

Local News पॉवटा साहिब हिमाचल

18 से 45 वर्ष तक के बेरोजगार उठाएं विभिन स्वरोजगार योजनाओ का लाभ:- देवेंद्र भाटिया

सिरमौर न्यूज़

उपमंडल पांवटा के तहत माजरा पंचायत घर मे बेरोजगारी को कम करने के लिए यूको बैंक ग्रामीण स्वरोजगार परीक्षण संस्थान के द्वारा जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। जिसमे आशा वर्करो के माध्यम से 18 वर्ष से 45 वर्ष तक के बेरोजगार के लिए चलाए जा रहे विभिन स्वरोजगार योजना के बारे में बताया गया।
महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें राष्ट्रीय पोषण अभियान सही पोषण-देश रोशन जन आंदोलन बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ आदि कार्यक्रमों के बारे में महिलाओं को जागरूक किया गया। वहीं, आज यूको रूरल सेल्फ एंप्लॉयमेंट ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट नाहन के द्वारा भी ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण के बारे में महिलाओं के माध्यम से जागरूक किया गया।
जिसमें बताया गया कि बेरोजगारों के लिए जो 18 वर्ष से 45 वर्ष के हैं, सरकार के द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है, उसके माध्यम से वह मजदूरी न कर के अपने कार्यकुशलता के द्वारा अपना स्वरोजगार शुरू कर सकता है। वह अन्य लोगों को रोजगार दे सकता है। इसके लिए बैंक से लोन भी उपलब्ध हो सकता है तथा कई स्कीमों में मुद्रा लोन जिसमें शिशु, तरुण तथा किशोर आदि योजनाएं चल रही हैं। जो इस कार्यक्रम में नया है उसे शिशु तथा जो आगे बढ़ चुका है उसे तरुण और जो इस काम में प्रशिक्षण पूरा ले चुका उसे किशोर लोन उपलब्ध कराया जा रहा है। वहीं हिमाचल सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अंतर्गत बेरोजगार प्लॉट से लेकर मशीनरी तक सभी पर लोन ले सकता है। जिसमें सरकार के द्वारा सब्सिडी भी उपलब्ध करवाई जा रही है।
वहीं, आर सैटी के माध्यम से 75% बीपीएल व 25% एपीएल के लोगो को ट्रैनिंग एक बैच में दी जाती है तथा उनके खाने का इंतजाम भी किया जाता है तथा बीपीएल परिवार के बेरोजगारों को रहने की सुविधा भी संस्थान के द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है। जिसमें 1 बैच में कम से कम 25 बेरोजगार तथा अधिक से अधिक 35 बेरोजगार को ही प्रशिक्षण दिया जाता है। बेरोजगारों को आरसीटी के माध्यम से स्वरोजगार के बारे में जागरूक किया जाता है तथा उन्हें इसके बारे में टेक्निकल सहायता भी उपलब्ध करवाई जाती है। उक्त सभी विषयों की जानकारी संस्थान के डायरेक्टर देवेंद्र भाटिया व उनके सहयोगी जागृति द्वारा माजरा पंचायत में आशा व आंगनबाड़ी वर्करों के माध्यम से लोगों को दी गई।