सैनिको के आशियाने उजाड़ने में लगे है भाजपा समर्थक , किरनेश जंग का आरोप

पॉवटा साहिब हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा इस बार देश के नाम पर वोट मांग रही है , लेकिन पांवटा साहिब में भाजपा समर्थक दबंग सैनिको के आशियाने उजाड़ने में लगी हुई है। एक तरफ वोट बटोरने के लिए सैनिको की सर्जरीकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का श्रेय भाजपा ले रही है तो दूसरी तरफ पांवटा साहिब के बीजेपी विधायक दबंगों को शेल्टर दे रहे है। सैनिक परिवार को सुरक्षा देने की अपेक्षा स्थानीय विधायक दबंग लोगो के साथ खड़े होकर उनके गुनाह पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहे है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यह वक्तव्य पांवटा साहिब के पूर्व विधायक चौधरी किरनेश के है। चौधरी किरनेश जंग ने ऐसा क्यों कहा इसके लिए आपको पूरा मामला समझना जरूरी है।

यह है पूरा मामला

मामला बीते 16 अप्रेल का है , पांवटा साहिब के बाता मंडी में 1922 से एक सैनिक परिवार रह रहा है। भारतीय सेना में देने के बाद जीत सिंह बहादुर ने एनएच के साथ कच्चा मकान तैयार करवाया , सेना से सेवानिवृत होने के बाद उन्होंने लोक निर्माण विभाग में भी नौकरी की। उसके बाद उनके पुत्र योगिन्दर सिंह भी सेना में भर्ती हुए और देश के लिए सेवाएं दी अब तीसरी पीढ़ी भी देश की सरहद पर भारतियों को सुरक्षा में लगे हुए है योगेंदर सिंह के पुत्र मनीष अब भारतीय सेना में अपनी सेवाएं दे रहे है। पूरा परिवार सैनिक परिवार है और योगेंदर सिंह के बड़े बेटे की शादी समारोह में उत्तराखंड के विकासनगर पहुंचा हुआ था।
लेकिन उनके पड़ोस में रहने वाले एक समुदाय के लोगो ने उनकी गैर मौजूदगी में उनके मकान को गिरा रहे थे जिसमे उनका सारा सामन भी मौजूद था। पहले देर रात इस वारदात को अंजाम दिया गया , ग्रामीण इकठ्ठा हुए तो सत्ता की धौंस दिखाते हुए उन्हें इस मामले से दूर रहने की चेतावनी दी गई। मामला यहीं नहीं थमा दूसरे दिन फिर से जेसीबी मशीन से मकान को तोड़ दिया गया।
सूचना सैनिक परिवार को मिली तो उन्होंने मोके का दौरा किया और पुलिस को इसकी सूचना दी , आरोप है की पुलिस ने इस मामले को लेकर ज्यादा संजीदगी नहीं दिखाई और आरोपियों पर मामूली सी धाराएं लगा कर उन्हें बांड भरवा कर छोड़ भी दिया। इस दौरान पूरा परिवार शादी के काम में व्यस्त हो गया। जिस घर में दुल्हन ने प्रवेश करना था राजनीतिक आढ़ में उस मकान हो ही गिरा दिया गया। जब पुलिस और प्रशासन ने कडा संज्ञान नहीं लिया तो स्थानीय लोगो और पूर्व विधायक चौधरी किरनेश जंग ने मामले में हस्तक्षेप किया उच्च अधिकारीयों को इसकी शिकायत की।
चौधरी किरनेश जंग ने मौजूदा विधायक पर आरोप लगाया है की उनकी शेय के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया है। पुलिस और प्रशाशन उनके दबाव में काम कर रहे है और सैनिक परिवार को इन्साफ नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा की इस मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन को कार्रवाई करनी होगी अन्यथा मामला बिगड़ता है तो प्रशासन इसका जिम्मेवार होगा।

आज शादी समारोह से निपटने के बाद सैनिक परिवार और उनके दर्जनों रिश्तेदार टूटे हुए घर के पास पहुंचे और यहाँ घर के बचे हुए हिस्से को सही करने लगे। इसी बीच पुलिस बल मौके पर पहुंचा ताकि कोई विवाद नहीं हो। लेकिन मालवा साफ़ कर रहे लोगो को सारा मालवा वहां से नहीं हटाने दिया गया। उधर आरोपी पक्ष के लोग अपने घरो की छत पर पहुंचकर अपने मोबाइल से मोके की वीडियोग्राफ़ी करते नज़र आये तो कुछ दीवारों पर सीसीटीवी कैमरा लगाते नज़र आये। साफ जाहिर हो रहा था की जिन लोगो ने इस कृत्य को अंजाम दिया है उनके अंदर न तो कानून का खौफ है और न ही कोई पछतावा। फिलहाल पूर्व विधायक चौधरी किरनेश जंग व् ग्रामीणों के हस्तक्षेप के बाद पुलिस अधिकारी और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुँच कर उचित करवाई का आश्वासन देते नज़र आये।

इसलिए उपजा था विवाद

दरसल आरोपी परिवार के सपने पीड़ित परिवार का कच्चा मकान था जहाँ से अपने घर का रास्ता बनाने के लिए दबंग परिवार कई बार प्रयास कर चुका है। दोनों पक्षों के बीच कई बार बातचीत भी हुई। मामला कोर्ट के संज्ञान में था और यहाँ से सैनिक परिवार के पक्ष में फैसला हुआ लेकिन दबंग लोगो ने इसके बावजूद भी अपना रास्ता बनाने के लिए मकान सैनिक परिवार का घर ही धवस्त कर दिया।