प्राचीन मेले व लोक संस्कृति हमारी धरोहर ,इनको रखना ही होगा कायम – अविनाश दानी

राजगढ़ हिमाचल

पवन तोमर / राजगढ़

उपमंडल राजगढ़ में जिला स्तरीय बैसाखी मेले की प्रथम सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। मेले की प्रथम सांस्कृतिक संध्या में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा से सेवानिर्वित अविनाश दानी मुख्य अतिथि रहे। उन्होंने दीप प्रज्वलित कर प्रथम सांस्कृतिक संध्या का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर अविनाश दानी ने कहा की प्राचीन मेले व लोक संस्कृति हमारी धरोहर है, इनको कायम रखना ही होगा। हिमाचल मेलों का महत्व व इनसे जुड़ी लोगों की भावनाएं हिमाचल की प्राचीन संस्कृति को दर्शाता है। परंपरागत मेलो का आयोजन हिमाचल प्रदेश में मेले और उत्सव लोगों के जीवन का अनिवार्य और महत्वपूर्ण अंग है यह मेले हमारी संस्कृतिक धरोहर है अतः इन्हें बड़े धूमधाम से पूरे हिमाचल प्रदेश के हर जिले में मनाया जाता है। राजगढ़ का बैसाखी मेला भी प्राचीन मेलों में से एक है , हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी राजगढ़ में बैसाखी मेला हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है।

मनोरंजन नहीं कर पाए कलाकार , कुर्सियाँ भी रही खाली ,आचार संहिता की भी उड़ाई धज्जियाँ

इस बार राजगढ़ बैसाखी मेले पर आचार संहिता का असर साफ दिखाई दिया। पहली सांस्कृतिक संध्या में कलाकार लोगो का मनोरंजन नहीं कर पाए। मैदान में पीछे की तरफ कुर्सियां खाली रह गई जबकि साथ ही स्टेडियम में कुछ लोग ही बेठे नजर आये इतना ही नहीं स्टेडियम भी खाली नजर आया। इस दौरान आदर्श आचार संहिता की धज्जियां भी कलाकार उड़ाते नजर आए , कलाकार नरेंद्र नीटू ने मंच से भाजपा नेता का प्रोग्राम दिलाने के लिए बार बार धन्यवाद किया जबकि मंच से किसी भी राजनैतिक दल या उसके नेताओं को सम्बोधित कही करना चाहिए था। इस अवसर पर पहली बार सांस्कृतिक संध्या में भाजपा व कांग्रेस नेता एक साथ वीआईपी चेंबर में बैठे दिखाई दिए

एसी भारद्वाज के मॉडल फोक ने बाँधा समा
हालाँकि इस बार सांस्कृतिक संध्या में भीड़ ज्यादा नहीं थी लेकिन कलाकारों ने अपनी बेहतर प्रस्तुतियां देने का प्रयास किया। इस दौरान किशन वर्मा ने पारंपरिक वेशभूषा में पहाड़ी नाटी पेश की जिसमे उन्होंने तेरा मेरा प्यार आडिये बच्पोनो रा ,मुन्जरे लानी काछू रे ,प्रति जिंटा केरकी चाली तू व् दूसरी ओर मॉडल फोक नोट के यूट्यूब पर धमाल मचा रहे गायक एसी भारद्वाज ने “देश शोभला हिमाचल प्यारा “,काटे लोणी कुकडी बे ,दमादम मस्त कलंदर ,मेरे रश्के कमर सहित अन्य हिमाचल के पहाड़ी गाने व फिल्मी गाने पेश किये इनसे पहले अनिल बरशंटा, रमेश कटोच, रोशनी शर्मा, देवेंद्र ठाकुर, विवेक मुशवान ने अपनी प्रस्तुतियां पेश की। इस दोरान एसडीएम राजगढ़ ,तहसीलदार राजगढ़ ,डीएसपी राजगढ़ मौजूद थे।