भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप ने किया पच्छाद का चुनावी दौरा

राजगढ़ हिमाचल

पवन तोमर / राजगढ़

पच्छाद के विधयाक एवं शिमला संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी सुरेश कश्यप ने मंगलवार को पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के कोटी पधोग , नौहरी , चंदोल, करगाणु , राजगढ़ व् खैरी का दौरा किया। राजगढ़ में चिरंजीव होटल में आयोजित बैठक में आसपास की पंचायतो के 100 से अधिक कार्यकर्ता शामिल हुए और सभी ने अपनी पंचायतो से कश्यप को भारी लीड दिलाने का आश्वासन दिया।
बैठक के बाद प्रेस वार्ता का भी आयोजन किया गया इस दौरान सुरेश कश्यप बताया की भारतीय जनता पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया। जिसे भाजपा ने संकल्प पत्र का नाम दिया है। उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रवाद हमारी प्रेरणा है, अंत्योदय हमारा दर्शन है और सुशासन हमारा मंत्र है।
उन्होंने कहा की ‘ पीएम मोदी ने कहा,था की ‘हम मानते हैं कि भारत का समय आ गया है। हम एक दुनिया में एक शक्ति केंद्र के रूप में उभर रहे हैं।
न्यू इंडिया का उदय नई वास्तविकता है और हम 21 वीं सदी में वैश्विक एजेंडा को आकार देने में एक प्रमुख भूमिका निभाएंगे।’ सुरेश कश्यप ने कहा की पीएम ने कहा था की 2022 में जब आजादी के 75 साल होंगे तब देश के उन महापुरुषों जिन्होंने आजादी की जंग लड़ी थी, उनके सपनों का भारत बनाने के लिए हमने 75 लक्ष्य तय किए हैं। हम देश को समृद्ध बनाने के लिए, सामान्यमानवी के सशक्तिकरण को लेकर जन भागीदारी को बढ़ाते हुए, लोकतांत्रिक मूल्यों को बढ़ावा देते हुए हम वन मिशन, वन डायरेक्शन को लेकर आगे बढ़ेंगे।
इससे पहले हिमाचल प्रदेश कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी ने भी प्रेस वार्ता में बताया की 2022 तक किसानो की आय दोगुनी करने का लक्ष्य पार्टी द्वारा रखा गया है इस लक्ष्य को हासिल करने को मिशन के रूप में लिया गया है | देश भर में कृषि संकट पर लगातार बात होती रही है, किसानों की आय दो गुनी करने का वादा मोदी सरकार कर चुकी है. संकल्प पत्र में किए गए 75 वादों में से 31 किसानों और ग्रामीण विकास से जुड़े हैं बलदेव भंडारी ने कहा की किसानों की आय दो गुनी’ शीर्षक वाले अध्याय की पहली पंक्ति है, “भाजपा सरकार के वर्तमान कार्य काल के प्रारंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की आय दो गुनी करने के लक्ष्य को हासिल करने को मिशन केरूप में लिया है. हम इस लक्ष्य को 2022 तक पूरा करने के लिए सभी प्रयास करेंगे. इसके इलावा एक बड़ी घोषणा भी की गई है की छोटे और सीमांत किसानों को पेंशन दी जायगी साथ ही छोटे किसानों को 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन देने का वादा किया गया है. इसके अलावा, किसान क्रेडिट कार्ड पर एक लाख रुपए तक के लोन पर पांच साल के लिए कोई ब्याज नहीं देना होगा .बाकी वादे मधुमक्खी पालन, मछली पालन, पशुपालन और जैविक खेती से जुड़े हुए हैं. गोदामों और बीजों की व्यवस्था को बेहतर बनाने का भी वादा किया गया है। इस अवसर पर सुनील शर्मा , सुनील ठाकुर , बलदेव कश्यप ,सुरेश ठाकुर ,नविन शर्मा ,सहित अन्य सेंकडो कार्यकर्त्ता उपस्थित थे |