अकाल अकादमी ने रचा एक और कीर्तिमान :लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में शामिल

राजगढ़ हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – राजगढ़

अपने अद्वितीय और मूल्य आधारित शिक्षा मॉडल के लिए कई पुरस्कार जीतने के बाद, अकाल अकादमी स्कूलों की श्रृंखला ने देश के पांच बड़े राज्यों में नशे के खिलाफ देश की सबसे विशाल रैली आयोजित कर लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करवाया ।
सफलता की सीढ़ी चढ़ते हुए अकाल अकादमी के स्कूलों ने एक नया कीर्तिमान स्थापित किया- पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के अकाल अकादमी स्कूलों के 15,000 छात्रों ने नशा विरोधी जागरूकता अभियान रैली निकाली। रैली 18 दिसंबर, 2017 को सभी पांच राज्यों की 113 अकाल अकादमी में आयोजित हुई जोकि 4 लाख लोगों तक पहुंचने में सफल रही। कुल 1400 किलो मीटर की दूरी तय कर छात्र-छात्राओं ने गांव शहर के हर प्रमुख चौराहों से गुजरते हुए नशे से दूर रहने का संदेश दिया। अकाल अकादमी स्कूल की उपलब्धियां उनके मूल्य आधारित शिक्षा मॉडल की तरह विशेष और सामाजिक रूप से समृद्ध हैं। अकाल एकेडमी स्कूल कलगीधर ट्रस्ट द्वारा चलाए जाते हैं जिनके 2 नशामुक्ति केंद्र , पंजाब व् हिमाचल प्रदेश में स्थापित है नशा मुक्ति केंद्र के द्वारा अकाल अकादमी स्कूलों के छात्रों की मदद से समय समय पर जागरूकता अभियान आयोजित किये जाते है। अकाल एकेडमी की प्रिंसिपल डॉ. नीलम कौर ने कहा कि हम बहुत खुश हैं कि अकाल एकेडमी स्कूलों को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में स्थान मिला है। छात्रों द्वारा किया गया प्रयास सराहनीय है और हम आशा करते हैं कि इस तरह के प्रयास समाज के हर एक वर्ग द्वारा भारत को नशामुक्त बनाने के लिए किए जाएंगे।