पांवटा साहिब के प्राचीन शिव मंदिर पातलियों में श्रधालुओं का लगा तांता

हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ – पांवटा साहिब

पूरे देश में महा शिवरात्रि पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। मान्यता के अनुसार महा शिवरात्रि को शिव की आराधना का मुख्य त्यौहार माना जाता है , शिव को महा शिवरात्रि बहुत प्रिय है। शिवपुराण के ईशान सहिंता के अनुसार , इस दिन ही शिव करोड़ो सूर्य के समान प्रभाव वाले रूप में अवतरित हुए थे , मान्यत है की इसी दिन उनका और माता पार्वती का विवाह भी हुआ था। शिव का आशीर्वाद पाने के लिए भक्त व्रत भी रखते है , इस व्रत को सभी नर-नारी रख सकते हैं। इसी कड़ी में हिमाचल -हरियाणा -उत्तरांचल की सीमा के साथ सटे प्राचीन शिव मंदिर पातालेश्वर महादेव मंदिर पांवटा साहिब में भी शिवरात्रि का महापर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया जा राह है। इस मंदिर का इतिहास महाभारतकाल का बताया जाता है , मान्यता है की इस स्थल पर पांडवों ने शिव की आराधना की थी। सदियों पहले यहाँ प्राकृतिक रूप से शिवलिंग उत्पन्न हुआ है जिसकी ऊंचाई हर वर्ष बढती जा रही है। हिमाचल के साथ साथ पडोसी राज्यों हरियाणा -उत्तरांचल- पंजाब व् दिल्ली से लेकर शिव भक्त यहाँ पूजा अर्चना करने पहुँचते है व् इस प्राचीन शिवलिंग का जलाभिषेक करते है। गत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष श्रधालुओं की संख्या में इजाफा हुआ है। इस बार भी यहाँ दो दिवसीय मेले का आयोजन किया जा रहा है। जबकि कल मंगलवार को विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। इस प्राचीन मंदिर के बारे में जेसे जेसे लोगो को पता लग रहा है यहाँ शिव भक्तो की तादात में लगातार इजाफा होता जा रहा है। इस बार शिव भक्तों की भारी संख्या को देखते हुए मंदिर समीति व् स्थानीय युवाओं ने बेहतरीन व्यवस्था का इंतजाम किया है ताकि सभी लोग शिवलिंग के दर्शन कर जलाभिषेक कर सके , भोले बाबा के दर्शन करने को श्रद्धालु भी अपनी शालीनता व् अपने अराध्य देव के प्रति भक्तिभाव का परिचय दे रहे है।