शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश सरकार के कार्य से नाखुश एबीवीपी, मांगे नही मानी तो होगा प्रदर्शन

हिमाचल

सिरमौर न्यूज़/पावंटा साहिब

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने अपनी ही सरकार को घरने का निर्णय लिया है। कॉलेजों में विद्यार्थियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध न होने को लेकर अब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने को तैयार हो गई है। पावंटा साहिब में आयोजित पत्रकार वार्ता में चौधरी ने कहा कि 26 जनवरी से लेकर 28 जनवरी तक एबीवीपी की प्रान्त की बैठक आयोजित की गई। जिसमें चर्चा की गई कि प्रदेश सरकार ने शिक्षा नीतियों में ज्यादा फेरबदल नही किया है। प्रदेश सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल में छात्रों हितों के लिए कोई विशेष कार्य नही किया है। चौधरी ने कहा कि आने वाले 10 जनवरी से एबीवीपी पूरे प्रदेश में जागरूकता मतदान अभियान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रदेश सरकार ने कॉलेज को जगह जगह खोल दिया लेकिन इन कॉलेजों में प्रध्यापको की भारी कमी के चलते विद्यार्थियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि कॉलेजों में रिक्त पड़े पदों को जल्द से जल्द भरा जाए। वही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि नौणी विश्विद्यालय में बढ़ाई गई फीस को वापिस ले। छात्र संघ चुनाव को लेकर एबीवीपी ने कहा कि प्रदेश सरकार को कॉलेजों में छात्र चुनाव को करवाने की अनुमति देनी चाहिए। चौधरी ने कहा कि यदि सरकार अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की मांगो को पूरा नही करती है तो व सरकार के खिलाफ प्रदेश भर में धरना प्रदर्शन करेंगें। इस मोके पर एबीवीपी के अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।