चाइल्ड हेल्पलाइन से जुड़े कर्मियों को मिल रही धमकियां, डीसी सिरमौर को शिकायत

हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / शिलाई

शिलाई क्षेत्र में बाल विवाह जैसी कुप्रथा समाप्त होने का नाम नही ले रही है। कुछ प्रभावशाली राजनीतिज्ञ भी इस कुप्रथा को पोषित करने में लगें है। ताज़ा मामले में चाइल्ड हेल्पलाइन से जुड़े कर्मियों को भी अब इन प्रभावशाली नेताओं ने धमकाना शुरू कर दिया है। बीते सप्ताह चाइल्ड हेल्पलाइन को 1098 के माध्यम से शिलाई क्षेत्र में एक लड़के व दो लड़कियों के बाल विवाह की सूचना मिली। जिस पर फौरी कार्रवाई करते हुए चाइल्ड हेल्पलाइन से जुड़े कर्मी शिलाई क्षेत्र पहुंचे। जब परिवार रजिस्टर की नक़ल का अवलोकन किया गया तो ये तीनों मामले बाल विवाह से जुड़े पाए गए।

चाइल्ड हेल्पलाइन के कर्मियों को मिली धमकियाँ

एक मामले में तो 16 साल की एक लड़की के विवाह के बाद सात महीने का छोटा बच्चा भी है, तीनो मामले प्रेम-प्रसंग से जुड़े है। जिनमें नाबालिगों ने भाग कर शादी की। पावंटा ब्लॉक से भी एक लड़की ने 10वीं कक्षा में पढ़ते हुए शिलाई के लड़के से भाग कर शादी की है। स्कूल रिकॉर्ड में उसकी आयु मात्र 16 वर्ष है। वह पिछले 15 दिनों से स्कूल से ड्रॉपआउट है। इन सभी मामलों को लेकर जब चाइल्ड हेल्पलाइन के लोग कार्रवाई कर रहे थे, तो क्षेत्र के एक प्रभावशाली नेता जो पूर्व में बीडीसी का सदस्य भी रहा है व एक अन्य नेता ने 30-35 लोगों के साथ मिलकर चाइल्ड हेल्पलाइन के कर्मियों वनिता व सुंदर सिंह को धमकाया। साथ ही यह चेतावनी भी दी कि यदि इन मामलों को ज्यादा कुरेदोगे तो जिदान वाला हाल करेंगे। यही नहीं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने भी चाइल्ड हेल्पलाइन लोगों को सहयोग नहीं दिया। उधर चाइल्ड हेल्पलाइन के कर्मियों ने इसकी शिकायत डीसी सिरमौर को दी है।