शहीद विनोद कुमार पंचतत्व में विलीन, सैन्य सम्मान के साथ गिरी तट पर हुआ 23 वर्षीय जवान का अंतिम संस्कार

हिमाचल

सिरमौर न्यूज़/नाहन

भारत माता के लिए अपने प्राण निछावर करने वाले शहीद जवान विनोद कुमार ने एक बार फिर जिला सिरमौर सहित पुरे प्रदेश ग़मगीन कर दिया। पिछले दो दिनों पहले लेह में शहीद हुए विनोद कुमार का पार्थिव शव मंगलवार को शिरूमाईला में पहुंचा। शहीद जवान का शव जैसे ही जवानों की कन्धों पर उसकी जन्मभूमि पर पहुंचा, सबकी आँखे नम हो गई। शहीद विनोद के दादा दादी शव को तिरंगे में लिपटा देख अपने आंसुओं पर काबू नहीं कर पाए और अपने पोते के पार्थिव शरीर से लिपटकर सिसक सिसक कर रोने लगे। इस दौरान जैसे ही शहीद के साथ आए सेना के जवानो ने जब तिरंगे को पिता के हाथों में दिया वैसे ही पिता का दिल बुरी तरह से टूट गया और भी अपने आंसू नहीं रोक पाए। अपने सबसे बड़े भाई का शव देखकर छोटा भाई नितेश व बहनें रीता व प्रीति जोर जोर से चिल्लाने लगे। मंगलवार का यह दिन गांव के लिए यह पल बेहद दुःख भरा था। 23 वर्ष का विनोद अभी अपने परिवार के सपने भी पुरे नही कर पाया था की, इससे पहले उसे भारत माता ने अपनी गोद में बुला लिया। मंगलवार को करीब 4 बजे गांव से शव यात्रा ददाहू के लिए रवाना हुई, इस दौरान ग्रामीणों ने भारत मां की जय व शहीद विनोद अमर रहे के नारे लगाए। शहीद विनोद कुमार की अंतिम यात्रा जैसे ही ददाहू बाजार में पहुंची पूरे बाजार में सन्नाटा छा गया।
गौर रहे की 26 जनवरी की रात करीब 12 बजे के आसपास विनोद ने करीब 14 हजार फीट की ऊंचाई पर देश की रक्षा में प्राण त्याग दिए थे । परिवार की सारी जिमेवारी विनोद के कन्धों पर थी, शहीद जवान विनोद घर में सबसे बड़ा था और कुछ वर्ष पहले ही सेना में भर्ती हुआ था। बताया जा रहा है की बड़ी ही मुश्किलों का सामना करने के बाद सेना की भर्ती को पास किया था। मंगलवार को शहीद विनोद कुमार का गिरी नदी के तट पर डोगरा रेजीमेंट ने गार्ड ऑफ ऑनर के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया , इस दौरान फर्स्ट पैरा व पुलिस जवानों ने संयुक्त रूप से उन्हें बंदूकों की सलामी दी।
इस मोके पर प्रशासन की ओर से तहसीलदार देवी सिंह कौशल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र ठाकुर, एसएचओ ददाहू मानवेंद्र ठाकुर, स्थानीय विधायक विनय कुमार, भाजपा नेता बलबीर सहित सैंकड़ों लोग गिरीनदी ददाहू पर पहुंचे।