भाजपा राज मे वन माफिया हुआ हावी ,फिर चली खैर के 35 हरे पेड़ो पर कुल्हाड़ी

क्राइम हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

पांवटा साहिब में वन माफियाओं ने फिर से हरे पेड़ो पर कुलहाड़ी चलाई है। इस बार खैर के 35 हरे पेड़ काटकर वन माफिया वन विभाग और पुलिस को खुली चुनोती देकर रफूचक्कर हो गए है । अज्ञात वन माफिया ने रातोंरात इस बड़ी वारदात को अंजाम देकर न केवल वन विभाग की नींद उड़ा दी है बल्कि माफिया राज को ख़त्म करने के प्रदेश सरकार के दावों की भी पोल खोल दी है।
मामला वन परिक्षेत्राधिकारी भंगानी तरसेम सिंह ने पांवटा पुलिस थाने मे शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया कि वन खण्ड अधिकारी राजपुर व वन रक्षक प्रभारी पुरुवाला बीट दीपक शर्मा ने लिखित रिपोर्ट दी है कि गत 14 जनवरी को रात्री को रिजर्व फोरेस्ट गिरि मे खैर प्रजाती के कुल 35 पेड अवैध रुप से काटे पाये गये। जिनका कुल आयतन 5.205 क्यूबिक मीटर बनता है। तथा कीमत 623356 रूपये है। पेड़ काटने के बाद खैर की काफी लकडी अज्ञात माफिया द्वारा मौके से उठाई गई। कुछ मौके पर ही थी जिसे विभाग ने कब्जे में ले लिया है। कब्जे में ली गई लकड़ी करीब 1.892 क्यूबिक मीटर है।
अवैध रूप से काटे गए 35 पेड़ों के बारे में उस समय पता चला जब सुबह के समय बीट गार्ड जंगल का चक्कर लगाने निकला था। मोके पर भारी मात्रा में लकडियां देखने के बाद इसकी सूचना विभाग के आला अधिकारीयों को दी गई। जिसके बाद टीम ने बची हुई लकड़ी को कब्जे में ले लिया है और अज्ञात के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। उधर इस बारे डीएफओ पांवटा साहिब कुनाल अंग्रीष ने बताया कि मामले की शिकायत पुलिस मे भी की गई है। विभाग खुद भी जांच कर रहा है।

अवैध पेड़ कटान मामले को लेकर कांग्रेस ने भाजपा को लिया आड़े हाथों

बड़ी मात्र में हरे पेड़ों पर कुल्हाड़ी चलने के मामले में कांग्रेस ने भी भाजपा को आड़े हाथो लेना शुरू कर दिया है।पांवटा साहिब के पूर्व विधायक चौधरी किरनेश जंग का कहना है कि भाजपा के शासन में पांवटा साहिब में वन माफिया हावी होता जा रहा है। माफिया को राजनैतिक संरक्षण मिला हुआ है जिसके चलते आये दिन अवेध रूप से हरे पेड़ो पर कुल्हाड़ी चलाई जा रही है । जब भी सम्बंधित अधिकारी कार्रवाई करने लगते है तो स्थानीय विधायक या चेहते लोग निष्पक्ष कार्रवाई नहीं होने देते। उन्होंने कहा की प्रदेश की मोजूदा सरकार ने चुनाव से पहले कहा था की यदि सत्ता उनके हाथ आएगी तो सबसे पहले माफिया राज का खात्मा होगा। पांवटा साहिब के मोजुदा विधायक चौधरी सुखराम ने भी चुनाव से पहले जनता के बीच जाकर कहा था की वे पांवटा साहिब में माफिया राज को नहीं पनपने देंगे लेकिन अब सचाई जनता के सामने आने लगी है।