प्रवासी मजदूरों की झुग्गियों मे लगी भीषण आग , दो पर लगे आग लगाने के आरोप

समस्या हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

पांवटा साहिब में प्रवासी मजदूरों की झुग्गियों में आगजनी का बड़ा मामला सामने आया है। आग लगने से 13 झुग्गियां राख की ढेर में तब्दील हो गई। गरीब मजदूरों का खाने पीने का सारा सामान भी आग की भेंट चढ़ गया। प्रशासन ने नुकसान के आंकलन के आदेश दिए है तो वहीँ पुलिस भी मामले की छानबीन में जुट चुकी है।
दरसल पांवटा साहिब की अनाजमंडी की तरफ रहने वाले प्रवासी मजदूरों की झुग्गियां आगजनी का शिकार हो गई। मामला पांवटा साहिब के अनाजमंडी के समीप का है जहाँ कुछ प्रवासी मजदूर झुग्गियों में रह रहे थे। आसपास मजदूरी का काम करने वाले इन प्रवासियों में सभी बिहार के रहने वाले है। बीती देर रात जब मजदूर सोने जा रहे थे तो उन्होंने आग की लपटें देखी। किसी तरह सभी प्रवासी भाग कर अपनी जान बचाने में कामयाब रहे लेकिन उनके कपडे , बिस्तर , खाने का सामन व् बर्तन सब आग में स्वाह हो गए। प्रवासी मजदूरों का आरोप है की दो अन्य प्रवासियों ने उनकी झुग्गियों को आग के हवाले कर दिया। आरोपी आगजनी की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए । खाना खाने के बाद उनकी मजदूरों के साथ किसी बात को लेकर बहस हुई जिसके चलते उनकी झुग्गियों को आग के हवाले किया गया। इसकी सूचना पुलिस को भी दी गई और पुलिस छानबीन में जुट चुकी है।
उधर इस बारे नायब तहसीलदार पांवटा साहिब निहाल सिंह कश्यप ने बताया कि सूचना के बाद पटवारी को मौके पर भेज दिया है। रिपोर्ट आने के बाद नियमानुसार आगामी कारवाई की जाएगी।

स्थानीय युवा पीड़ित प्रवासियों की मदद को आये आगे, बांटे गरम कपडे

इस अग्निकांड के बाद कुछ स्थानीय युवक भी मोके पर पहुंचे। गरीब मजदूरों का दर्द उनसे देखा नहीं गया और सबने प्रवासी मजदूरों की सहायता करने की ठान ली। हालांकि प्रशासन रिपोर्ट के बाद आगामी कारवाई करेगा लेकिन सर्द मौसम को देखते हुए स्थानीय युवा मजदूरों की मदद को पंहुच गए। युवा अंकित, गौरव, गगन, अंदेश आदि ने मजदूरों को गर्म कपड़े और दरी आदि प्रदान कर मानव सेवा की और अपना योगदान दिया। इन युवकों का कहना था की इन पीड़ित लोगो की सहायता के लिए आसपड़ोस से भी गरम कपड़ो का बंदोवस्त करेंगे ताकि सर्दी के मौसम की कड़ाके की ठण्ड से इन्हे बचाया जा सके।