विद्यार्थियों का खेल-खेल में हो रहा है सर्वांगीण विकास

खेल मनोरंजन शिक्षा स्वास्थ्य हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब
विगत दिनों हिमाचल सरकार के अथक प्रयास के द्वारा हिमाचल प्रदेश के 3391 स्कूलों में पूर्व प्राथमिक पाठशाला को सुचारू रूप से चलाने के लिए भरसक प्रयास किया गया। जिला सिरमौर के पांवटा ब्लाॅक के राजकीय प्रारम्भिक पाठशाला कुंजा मतरालियों में भी पूर्व प्राथमिक पाठशाला को चलाने का प्रयास किया गया है। जो कि धीरे-धीरे से सफलता की चरम सीमा की उंचाईयों को अपनी बाहों में समेटने के लिए उड़ान भर चुका है। जिसके तहत विद्यालय में 19 विद्यार्थियों का नामांकन हुआ है। विद्यालय की एसएमसी व पंचायत सदस्यों के संयुक्त तत्वधान द्वारा इस नामांकन को बढ़ाया गया है।

बताते चले कि विद्यालय परिसर में आंगनवाड़ी पहले से ही चला हुआ है और उसका असर आंगनवाड़ी पर नही पड़ा है और न ही स्कूल पर। आंगनवाड़ी में अभी भी 10 से 12 बच्चें नामांकित है। स्कूल की शिक्षिका के द्वारा बच्चों को हर प्रकार की गतिविधियों से रूबरू किया जाता है। जिसमें बच्चों को कविताएं, दैनिक बोलचाल के शब्द और पूर्व प्राथमिक पाठ्यक्रम के अनुसार अन्य सभी गतिविधियों को रूचि पूर्वक पढ़ाया जा रहा है। जिसमें विद्यार्थियों के शारीरिक, भाषात्मक, सामाजिक, रचानात्क और बौद्विक विकास की सभी गतिविधियों को निपूर्णता से करवाया जा रहा है।

स्कूल की शिक्षिका सारिका ने बताया कि पूर्व प्राथमिक पाठशाला में 8 बच्चें आंगनवाड़ी से आए है और 11 बच्चें बाहर से आए है। विद्यालय औद्योगिक ईकाईयों के मध्य में स्थित होने के कारण यहां पर अधिकांश बच्चें प्रवासियों के नामांकित हुए है।
स्कूल के द्वारा इन बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन की व्यवस्था की गई है। अभिभावकों ने बताया कि सरकार के द्वारा पूर्व प्राथमिक पाठशाला का खोला जाना साकारात्क पहल है। जिससे उनके बच्चों को एक नया आधार मिल जाएगा। शीघ्र ही सरकार के इस पहल को हर प्रारम्भिक स्कूल में लागू किया जाना चााहिए। जिससे विद्यार्थियों का नांमाकन और गुणवता बढ़ती जाएगी।