कफोटा काॅलेज मे नशे के खिलाफ पोस्टर मेकिंग, नारा लेखन और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन

शिक्षा हिमाचल

सिरमौर न्यूज़/पांवटा साहिब
युवा पीढ़ी पर नशीले पदार्थों की पकड़ लगातार मजबूत हो रही है। नशे की लत से ग्रसित युवा कई बार गलत राह पकड़ लेते हैं , मादक पदार्थों का सेवन भी उनमें से एक है। पिछले कई दशकों में मादक पदार्थों का प्रयोग युवाओं के बीच लगातार बढ़ा रहा है। इस नशे की लत ने आज की युवा पीढ़ी की कमर ही तोड़ दी है। नशे की इसी पकड़ को कमजोर करने की दिशा में प्रयास लगातार जारी है। खासकर शिक्षा विभाग युवाओं में बढ़ते नशे के प्रचलन से चिंतित होकर इसके निवारण में के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। इसी सिलसिले में सिरमौर के गिरिपार क्षेत्र के डिग्री काॅलेज कफोटा मे नशा मुक्ति विषय पर शिक्षा निदेशालय के तत्वाधान मे पोस्टर मेकिंग, नारा लेखन और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस दौरान हुई प्रतियोगिता के भाषण स्पर्धा मे रेणु बीए प्रथम वर्ष ने पहला स्थान अर्जित किया। इसी प्रकार नारा लेखन मे रितु बीए चतुर्थ वर्ष ने अपने नारे से प्रथम स्थान प्राप्त किया। पोस्टर मेकिंग मे अंजना शर्मा बीए प्रथम वर्ष ने पहला स्थान हासिल किया। इस मौके पर महाविद्यालय के वरिष्ठ प्राध्यापक डा. एनआर गोपाल, प्रो0 टीएस चैहान, डा. जयचंद शर्मा, प्रो. सुषील कुमार, प्रो. दिनेष शर्मा, राहुल शर्मा और विवेक शर्मा आदि भी मौजूद रहे। कार्यक्रम से पूर्व समन्वयक प्रोफेसर रविन्द्र शर्मा ने विद्यार्थियों को विषय के बारे मे अवगत करवाया। उन्होने कहा कि नशा आज समाज का अभिशाप बन गया है। जिसके प्रभाव मे युवा व युवतियां आ रहे हैं। उन्होने मादक पदार्थों के व्यवहार पर चिंता प्रकट की और विद्यार्थियों से इससे दूर रहने और समाज को जागरुक करने का आहवान किया। उन्होंने बताया की एक बार नशे की आदत लग जाए तो बिना मादक पदार्थों के सेवन के जी नहीं सकते और उनका यह कदम उन्हें हर रोज मौत की तरफ धकेलता जाता है इसलिए नशे के सेवन से बचना जरुरी है।