भारी वाहनों की आवाजाही को लेकर एसडीएम ने किया कमेटी का गठन

समस्या हिमाचल

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

पांवटा साहिब के देवी नगर में लम्बे जाम और धूल मिट्टी से अब आम लोगो को राहत मिलने की उम्मीद है । अब न केवल लोगो को भारीभरकम ट्रकों के चलने से उड़ने वाली धूल से राहत मिलेगी बल्कि लोग सड़कों पर सुरक्षित चल पाएंगे। इसी सन्दर्भ में की गई एक शिकायत पर एसडीएम पांवटा ने एक कमेटी का गठन किया है 4 सप्ताह में अपनी रिपोर्ट कार्यालय को सौंपेगी।

दरसल भारी वाहनों की आवाजाही को लेकर स्थानीय नागरिकों ने डीसी सिरमौर को एक शिकायत सौंपी थी । इस शिकायत में स्थानीय नागरिकों ने देवी नगर से रामपुर घाट तक महज 10 से 15 फीट चौड़ी सड़क पर चल रहे 40 से 60 टन वजनी वाहनों पर रोक लगाने की माँग की थी। नागरिकों ने माँग की थी केवल रात 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक भारी वाहनों की आवाजाही रखी जाए। जिस पर डीसी सिरमौर में इसकी रिपोर्ट एसडीएम पांवटा से मांगी थी।

गौरतालाब हो कि विश्वकर्मा मंदिर से लेकर रामपुर घाट तक सड़क मार्ग बेहद संकरा और टूटा-फूटा हुआ है। दिन के 11 बजते ही इस सड़क मार्ग पर भारी वाहन जिसमें सबसे ज्यादा क्रेशर की 40 से 60 टन वजनी भारी वाहन भी शामिल है चलने शुरू हो जाते हैं। जिसके कारण लगभग 2 आंगनवाड़ी और 6 स्कूलों के बच्चों सहित 10 हजार से अधिक लोगों को परेशानी झेलनी पड़ती है दिन भर उड़ने वाली धूल से जहां अस्थमा व टीबी जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ गया है वहीं इस सड़क पर पैदल चलने वाले लोगों की भी जान हर वक्त खतरे में बनी रहती है।

{ इस सड़क को लेकर काफी शिकायतें मिली हैं। जिस पर डीएसपी पांवटा साहिब, एक्सन पीडब्ल्यूडी, तहसीलदार पांवटा साहिब सहित आरटीओ द्वारा रिपोर्ट तैयार की जा रही है ताकि भारी वाहनों के लिए समय सारणी में बदलाव किया जा सके – एनआर वर्मा एसडीएम }