दिनभर छांवनी में तब्दील रही हिमाचल उत्तराखंड सीमा, 15 लिए हिरासत में

लेटेस्ट न्यूज़

सिरमौर न्यूज़
शुक्रवार को उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की सीमा कुल्हाल बॉर्डर को देहरादून पुलिस द्वारा छावनी में तब्दील कर दिया गया। दिल्ली और पंजाब से हरिद्धार हरकी पैडी स्थित विवादित स्थान पर सिख समुदाय के जबरन पहुंचने की सूचना पर बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए थे। भारी पुलिस बल और आला अधिकारियो की ये टीम वीरवार देर रात से उत्तराखंड प्रदेश के कुल्हाल बॉर्डर पर मोर्चा सँभालते हुए दिखी। दरअसल दिल्ली और पंजाब से हरिद्धार हरकी पैडी स्थित विवादित स्थान पर गुरु नानक साहब के ऐतिहासिक ज्ञान गोदडी गुरुद्वारे को बनाने की मांग और शबद कीर्तन करने के लिये सिख संगठन “आल इंडिया सिख कांफ्रेंस” के प्रमुख गुर शरण सिंह बब्बर की अगुआई में कूच करने निकले थे। जत्थे की सूचना पर उत्तराखण्ड प्रशासन के हाथ पांव कल शाम से ही फूले हुए थे । जिसके चलते हरियाणा हिमाचल रुट से जत्थे के आने की संभावना पर देहरादून जिला प्रशासन और इंटेलिजेंस अलर्ट पर रही । हिमाचल उत्तराखण्ड प्रदेश की अंतरराज्यीय सीमा कुल्हाल चेक पोस्ट को सील किये जाने जैसे हालात बने रहे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ भारी पुलिस बल सहित SDM विकास नगर मौके पर तैनात रहे । जत्थे को हिमाचल उत्तराखण्ड के बीच बने पुल पर ही घेर लिया गया और प्रशासन द्वारा जत्थे में मौजूद सिखों को वापिस लौट जाने के लिये बातचीत होती रही । लेकिन काफी देर की असफल वार्ता के बाद जत्थे में मौजूद करीब 15 लोगों को बातचीत के लिये हिरासत में ले लिया गया । जिन्हें पुलिस द्वारा बस में बैठाकर गोपनीय जगह पहुँचाया गया । इस मौके पर गुर शरण सिंह बब्बर ने उत्तराखण्ड सरकार को घेरते हुए तमाम सवाल उठाये । वहीं उन्होंने बताया की एक तरफ तो भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली का बयान आता है की सीमा से सटे गुरुद्वारों की विवादित भूमि के हल के लिये भारत और दुश्मन देश पाकिस्तान की सरकार में बातचीत हो रही है। वहीं दूसरे और अपने ही देश में हमें गुरू नानक साहब के गुरूद्वारे के लिये लड़ना पड़ रहा है सरकार हमें वहाँ जाने तक की इजाजत नहीं दे रही है । हमारे एतिहासिक चार सौ पचास साल पुराने गुरूद्वारे का लगातार मलियामेट किया जा रहा है ।