पांवटा साहिब में बंद का मिला जुला असर, मरीज परेशान

चिकित्सा

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब
आल इंडिया ओरगनाइजेशन एसोसिएशन कैमिस्ट एंड एलायंस के आह्वान पर आज पूरे भारत में मैडिकल स्टोर बंद है। इसी के चलते आज पांवटा साहिब कैमिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर अधिक्तर मैडिकल स्टोर बंद रहे परंतु फिर भी यहां इस बंद का मिला जुला असर देखने को मिला। इस हड़ताल से मरीजों को दवाइयां लेने के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ा ।
पांवटा साहिब में शुक्रवार को निजी दवा दुकानों के बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला यहां पर सरकारी दवा दुकानों सहित कुछ निजी दुकानें भी मरीजों को सुविधाएं देने के लिए खुली रही। दरअसल दवाओं के ऑनलाइन कारोबार को मान्यता देने वाले कानून इंटरनेट फार्मेसी के विरोध में शुक्रवार को समूचे देश सहित हिमाचल में प्रायवेट केमिस्ट एक दिवसीय हड़ताल पर चले गए। ऑनलाइन दवा बिक्री को कानूनी मंजूरी के खिलाफ हिमाचल प्रदेश सोसायटी ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने एक दिन की हड़ताल पर जाने का फैसला लिया था। एसोसिएशन ने इंटरनेट फार्मेसी को मान्यता देने वाले कानून का विरोध करते हुए प्रदेश भर की सभी निजी दुकानें बंद करने का फैसला किया था। परंतु पांवटा साहिब में इस बंद का मिलाजुला ही असर देखने को मिला है।
पांवटा साहिब में जहां अधिकतर निजी दवा दुकानें शुक्रवार को हड़ताल के चलते बंद रही वहीं अपोलो फार्मेसी ,सरकारी दवा की दुकानों सहित सिविल अस्पताल स्थित मेडिकल स्टोर भी खुला रहा। वहीं अस्पताल में दवा लेने आए मरीजों ने बताया कि मेडिकल स्टोर हड़ताल पर होने से उन्हें केवल डॉक्टर की पर्ची पर सरकारी मेडिकल स्टोर से दवाएं मिल रही हैं और अस्पताल से बाहर सभी मेडिकल स्टोर को बंद होने से काफी असुविधा हो रही है उनकी पहले से चलती आरही कोई भी छोटी बड़ी दवा लेने के लिए पहले डॉक्टर से पर्ची बनवानी पड़ रही है और दवा लेने केवल अस्पताल में ही आना पड़ रहा है
एसोसिएशन के पांवटा ईकाई अध्यक्ष प्रमोद गर्ग ने बताया कि दवाईयो के आनलाईन बिक्री से जीवन रक्षक दवाओं का गलत इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि दिन प्रतिदिन नशा बढ़ रहा है तथा एसोसिएशन नशे के कारोबार को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ प्रतिबद्ध है। परन्तु दवाईयो की आनलाईन बिक्री का विरोध करते है। जिससे जीवन रक्षक दवाओं का गलत इस्तेमाल किया जाएगा।