पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की अस्थियां यमुना में की गई विसर्जित

लेटेस्ट न्यूज़

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेई का अस्थि कलश आज पांवटा  साहिब पहुंचा। यहाँ  केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा के साथ दर्जनों नेताओं ने अटल जी की अस्थियों को यमुना नदी के किनारे यमुना घाट पर विसर्जित किया।  इससे पूर्व शहर के रामलीला मैदान में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। यहां अटल जी के अस्थि कलश को आमजन के दर्शनों एवं श्रद्धांजलि के लिए रखा गया था।
पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई की अस्थियों को पतित पावनी यमुना के जल में प्रवाहित किया गया। पांवटा साहिब में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने शिरकत की। इस अवसर पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री डॉ राजीव सहजल, सांसद वीरेंद्र कश्यप, पांवटा  विधायक सुखराम चौधरी, पच्छाद विधायक सुरेश कश्यप, दून क्षेत्र के विधायक परमजीत सिंह पम्मी, प्रदेश प्रवक्ता चंद्रमोहन ठाकुर व  बलदेव तोमर , उत्तराखंड की सहसपुर विधानसभा से विधायक सहदेव पुंडीर सहित हजारों नेता व कार्यकर्ता उपस्थित रहे। सर्वप्रथम शिमला से पांवटा  साहिब पहुंचे अस्थिकलश को मुख्य बाजार से रामलीला मैदान तक लाया गया। जहां अस्थि कलश को आमजन के दर्शन और श्रद्धांजलि के लिए रखा गया। यहां लोगों ने अटल जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। यहां आयोजित शोक सभा में विभिन्न नेताओं ने अटल जी को श्रद्धांजलि देते हुए देश के लिए उनके योगदान को याद किया। श्रद्धांजलि सभा के बाद अस्थि कलश के कलश यात्रा निकाली गई कलश यात्रा रामलीला मैदान से यमुना घाट तक निकाली गई। यमुना तट पर वैदिक मंत्रों के उच्चारण के साथ विधि विधान से अटल जी की अस्थियां प्रवाहित की गई। इस अवसर पर सभा स्थल यमुना घाट पर हजारों लोगों ने श्री वाजपेई जी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

शोक सभा एवं अस्थि विसर्जन कार्यक्रम के दौरान कटी जेब

पांवटा साहिब में मंगलवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी की शोक सभा एवं अस्थि विसर्जन कार्यक्रम रखा गया था, इस दौरान शातिर चोरों ने एक बुजुर्ग की जेब काट ली है। जानकारी के मुताबिक 60 वर्षीय जीवन सिंह पुत्र उजागर सिंह निवासी ग्राम पुरूवाला ग्राम पंचायत सालवाला ने बताया कि शोकसभा के बाद जब वे यमुना घाट की ओर जा रहे थे तो भीड़ में अचानक किसी शातिर बदमाश ने उनकी जेब से करीब ₹50000 रूपये तथा जरूरी कागजात उड़ा लिए। जीवन सिंह ने बताया कि बीते सोमवार को ही उन्होंने बैंक से ₹40,000 रूपये किसी को पेमेंट देने के लिए निकलवाए थे और आज शोकसभा के बाद व पेमेंट देने जाने वाले थे। परंतु यमुना तट की ओर जाते वक्त अचानक ही भीड़ में किसी ने उनकी जेब काट ली। जिसमें करीब ₹50000 रूपयों सहित बैंक के एटीएम, क्रेडिट कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड व ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य जरूरी कागजात भी चोरी हो गए हैं।
उसके बाद बुजुर्ग ने शिमला स्थित पुलिस मुख्यालय के कंप्लेंट नंबर 9459100100 पर मैसेज कर पुलिस को इसकी सूचना दी है। साथ ही शातिर चोर को जल्द पकड़ कर उनका सामान वापस दिलवाने की गुहार लगाई है।