अब नगर परिषद पांवटा पर चलेगा सरवीन चौधरी का डंडा

भाजपा राजनीति लेटेस्ट न्यूज़

बीते दिनों विभिन्न घोटालों के गंभीर आरोपों के चलते प्रदेश भर में बदनाम हो चुकी पांवटा साहिब नगर परिषद पर अब शहरी विकास मंत्री सरवीन चौधरी का डंडा चलने वाला है। पांवटा साहिब पहुंची कबीना मंत्री ने तीखे तेवर में यह स्पष्ट किया कि उनकी सरकार में किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यदि कोई भी व्यक्ति किसी भी घोटाले में संलिप्त पाया जाता है, तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। हिमाचल प्रदेश सरकार में शहरी विकास मंत्री सरवीन चौधरी वीरवार की शाम हरिद्वार से वापस लौटते वक्त कुछ देर पांवटा साहिब में रूकी थीं। इस दौरान पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने साफ किया की नगर परिषद स्तर पर किसी भी तरह के भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

शहरी विकास विभाग के निदेशक को दिये जायेंगे जांच के आदेश

दरअसल कबीना मंत्री उत्तराखण्ड के हरिद्वार से वापस लौटते वक्त दोपहर के भोज के लिए पांवटा साहिब के लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में कुछ देर रूकी थीं। यहां पत्रकारों द्वारा उनसे बीते दिनों नगर परिषद के कथित गटका घोटाले बारे सवाल किया गया। जिसके जवाब में शहरी विकास मंत्री ने तल्ख तेवर में कहा कि प्रदेश में अब भाजपा की सरकार है और किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हालांकि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं थी, परंतु वे तत्काल ही शहरी विकास विभाग के निदेशक को इस मामले की गहनता से जांच के आदेश देंगी। उन्होंने कहा कि मामले में यदि कोई भी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

क्या था मामला…
बता दें कि बीते दिनों एक आरटीआई में नगर परिषद द्वारा 10 लाख रूपये का गटका घोटाला किये जाने की बात सामने आई थी। जिसकी अभी तक कोई जांच नहीं हुई है। आरटीआई में खुलासा हुआ था कि शहरभर की अधिक्तर पक्की हो चुकी गलियों में नगर परिषद द्वारा पिछले वर्ष बरसात के दौरान 661 के करीब गटके की ट्रालियां डाली गई थी। जिसके लिये बकायदा पार्षदों द्वारा अपने लेटरहेड पर ट्रालियों की गिनती लिखकर दी गई थी। जिसकी करीब 10 लाख रूपये पेमेंट भी संबन्धित ठेकेदार को अदा कर दी गई थी। अब इस मामले में कबीना मंत्री ने जल्द ही निष्पक्ष जांच कराये जाने का आशवासन दिया है।