डोगरी ने पांवटा में भरी हुंकार, शिवसेना में हुई घरवापसी

राजनीति लेटेस्ट न्यूज़

पिछले कुछ वर्षों में महाराष्ट्र तक ही सिमट कर रह गई शिवसेना ने अब अन्य राज्यों में भी विस्तार शुरू कर दिया है। शिवसेना की उत्तर भारतीय शाखा के गठन के बाद अब राज्यों में भी ईकाइयां गठित करने का कार्य अंतिम दौर में चल रहा है। हिमाचल में भी शिवसेना के विस्तार की सुगबुगाहट देखी गई। पूर्व में शिवसेना के प्रदेश प्रमुख रहे मधुकर डोगरी अपने सहयोगियों के साथ पार्टी के रंग में रंगे नजर आए। मधुकर डोगरी ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर शिवसेना का स्थापना दिवस मनाया। इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष और उनके सहयोगियों ने पांवटा अस्पताल में उपचाराधीन रोगियों को फल बांटकर खुशी का इजहार किया।

इस अवसर पर मधुकर डोगरी ने कहा कि शिव सैनिक सदा से ही जनसेवा करते आए हैं। आगे भी शिव सैनिक श्री बाला साहब ठाकरे द्वारा स्थापित आदर्शों पर चलकर समाज और पार्टी की भलाई के लिए लगे रहेंगे। उन्होंने कहा कि 19 जून 1966 को शिवसेना का गठन स्व. श्री बाला साहिब ठाकरे द्वारा किया गया था। करीब दो दशकों तक उन्होंने शिवसेना के विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं भी दी हैं। लेकिन पिछले दिनों महराष्ट्र में उत्तर भारत के लोगो पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं द्वारा किये गये हमलों के बाद उन्होंने इसका विरोध किया व शिव सेना छोड़ दी थी।

अब शिवसेना द्वारा उत्तर भारत निवासी गुलाब सिंह दुबे बड़े पद नियुक्ति दी गयी है। जिसके बाद कुछ समय पहले गुलाब सिंह दुबे द्वारा उन्हें फोन कर पुनः शिव सेना से जुडने के लिये कहा गया। जिसके बाद पिछले हफ्ते महारष्ट्र व दिल्ली में वे विभिन्न बैठकों में शामिल हुए जहां उन्हें हिमाचल प्रदेश का पदभार सम्भालने की जिम्मेदारी दी गई है। हालांकि अभी नियुक्ति पत्रो6 सहित इसका औपचारिक ऐलान होना बाकी है।
मधुकर डोगरी ने कहा कि वे इस नई पारी में एक बार फिर से गरीबों के हक की लडाई लडने को तैयार हैं। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि यदि अधिकारियों ने गरीब तबके के लोगो के कार्यों में किसी भी प्रकार की बाधा उत्पन की, तो उनके खिलाफ सड़कों पर उतरकर धरने प्रदर्शन किये जाएंगे। उनकी आधिकारिक नियुक्ति के ऐलान बाद शीघ्र ही शिव सेना का सदस्यता अभियान चलाकर अधिक-अधिक से लोगों को इसकी विचारधारा से जोडा जायेगा।