पांवटा साहिब के केदारपुर गांव में गहराया पेयजल संकट

समस्या

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में जहाँ एक और पानी की एक एक बूँद के लिए लोग तरस रहे है वहीँ प्रदेश के मैदानी क्षेत्र पांवटा साहिब में भरपूर पानी होते हुए गांव के लोग पानी को तरस रहे है। दरसल पांवटा साहिब के केदारपुर गांव में आईपीएच विभाग की लापरवाही और ठेकेदार की मनमानी से लोग परेशान है। यहाँ पीने के पानी की एक स्कीम तैयार है लोगो के घरों तक पाइप लाइन भी बिच चुकी है लेकिन डेढ़ वर्षो से इसमें पानी की सप्लाई नहीं दी गई है। ग्रामीण कई बार विभागीय अधिकारीयों के सामने पानी के लिए गुहार लगा चुके है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ग्रामीण आसपड़ोस से पानी लाकर गुजारा कर रहे है। इतना ही नहीं गरीब से गरीब परिवार के लोग भी अपने खर्चे पर जुगाड़ करके पानी की व्यवस्था करने में लगे हुए है।
वार्ड मेंबर ममता चौहान ने बताया की पीने के पानी की समस्या झेल रहे इस गांव में सिंचाई के लिए एक बोरवेल भी लगवाया गया है लेकिन उसका पानी आज तक किसानो के खेतों तक नहीं पहुँच पाया है। मात्र एक खेत तक ही इसका पानी पहुँच पाता है। आरोप है की ठेकेदार ने इस स्कीम में भारी अनियमितताएं बरती है , पैसे बचाने के चक्कर में बड़ी की जगह छोटी पाइप लाइन बिछा रखी है और जहाँ पानी के डिस्ट्रीब्यूशन के लिए छोटे टैंक का निर्माण किया है वहां पानी खुले में बह रहा है। इसकी शिकायत भी कई बार आईपीएच के अधिकारीयों को की जा चुकी है लेकिन आज तक को कार्रवाई नहीं हुई है। अब लोगो ने सरकार से इस समस्या के समाधान की गुहार लगाई है।