अवैध रूप से चल रहा क्लिनिक सीज

क्राइम

सिरमौर न्यूज़ / पांवटा साहिब
पांवटा साहिब में ड्रग इंस्पेक्टर द्वारा अवैध रूप से चल रहे दवाओं के एक क्लीनिक को सीज किया है। ड्रग इंस्पेक्टर ने अपनी टीम सहित पांवटा साहिब के औद्योगिक क्षेत्र गोविंदपुर में बीते मंगलवार को की गई छापेमारी के दौरान अवैध रूप से चल रहे एक क्लीनिक को सीज कर दिया है। पिछले काफी अरसे से यह क्लीनिक उत्तराखंड के लाइसेंस पर यहां पर चल रहा था। जबकि क्षेत्र में किसी भी क्लीनिक के संचालन के लिये हिमाचल प्रदेश सरकार ही रिटेल ड्रग स्टोर का लाइसेंस जारी कर सकती है। ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुए ड्रग इंस्पेक्टर की टीम ने जसपाल सिंह पुत्र जय सिंह के क्लीनिक पर छापेमारी कर इसे सीज कर दिया है।
छापेमारी के दौरान ड्रग इंस्पेक्टर पावटा साहिब सुरेश चौहान ने जब क्लीनिक के संचालक से शेड्यूल एच-1, नारकोटिक, रिटेल ड्रग लाइसेंस व आरएमपी सर्टिफिकेट आदि जरूरी दस्तावेज मांगे तो संचालक के पास से केवल उत्तराखंड के विकासनगर का ही रिटेल लाइसेंस पाया गया। जबकि किसी भी राज्य में इस तरह के क्लीनिक संचालन को उसी राज्य की सरकार द्वारा दिये गये लाइसेंस का होना जरूरी है। उसके बाद ड्रग इंस्पेक्टर की टीम ने अवैध रूप से चलाए जा रहे इस क्लीनिक को सीज कर दिया है।
उधर मामले की पुष्टि करते हुए ड्रग इंस्पेक्टर पांवटा साहिब सुरेश चौहान ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली थी कि पिछले काफी समय से गोंदपुर क्षेत्र में यह क्लीनिक अवैध रूप से चल रहा है। जिसके पास से छापेमारी के दौरान हिमाचल सरकार व संबंधित विभाग द्वारा दिए गए कोई भी दस्तावेज नहीं पाये गये। उन्होंने बताया कि ड्रग एवं कॉस्मेटिक एक्ट की धारा 18सी व 18ऐ के तहत क्लीनिक को सीज कर दिया है। अब उनके द्वारा यह मामला कोर्ट में पेश किया जाएगा।