भगवान बुद्ध ने विश्व को दिया अहिंसा परमोधर्मा का संदेश-डा0 बिंदल

धार्मिक

सिरमौर न्यूज। नाहन

जिला मुख्यालय नाहन में बुध जंयती को कोली समाज नाहन के द्वारा बड़े हर्षाेल्लास से मनाया गया। भगवान बुध की 2562वीं जयंती नाहन के कोली सामुदायिक प्रताप भवन में आयोजित की गई। कार्यक्रम के मुख्यातिथि विधानसभा अध्यक्ष डा0 राजीव बिंदल मौजूद रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में विधानसभा सदस्य सुरेश कश्यप व विधानसभा सदस्य विनय कुमार भी मौजूद रहे। विश्व को अहिंसा परमोधर्मा का पाठ पढाया गया था जो कि मानव के लिए सबसे उत्तम संदेश है जिसका अनुसरण समाज के हर व्यक्ति को अपने जीवन को सार्थक बनाने के लिए करना चाहिए। यह उद्गार विधान सभा अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल ने यहां प्रताप भवन के सभागार मंे अखिल भारतीय कोली समाज जिला सिरमौर द्वारा आयोजित 2562वीं बुद्ध जयन्ती के अवसर पर आयोजित एक समारोह के उपलक्ष्य पर बतौर मुख्यातिथि उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए डा0 बिन्दल ने कहा कि महात्मा बुद्ध के सिद्वान्त जिनमें झुठ न बोलो, चोरी न करो, अंहिसा के मार्ग पर चलो, नशे का सेवन न करे ऐसे विचार हमे अपने जीवन में अपनाने चाहिए।
उन्होंने कहा कि महात्मा बुद्व ने कहा था कि अपने द्वीप स्ंवय बनो। उन्होंने कहा कि महात्मा बुद्ध का अवतरण न केवल भारत के लिए है बल्कि यह पूरे विश्व के लिए है। महात्मा बुद्ध मानवता के लिए अवतरित हुए है। हमें अपना जीवन कैसे जीना चाहिए इसकी शिक्षा हमें महात्मा बुद्व से मिलती है। महात्मा बुद्ध द्वारा भारतीय संस्कृति आज पूरे विश्व में फैली है। हमें उनकी शिक्षाओं का अनुसरण करना चाहिए आज भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द इसी समाज से है जो एक गौरव का विषय है। उन्होंने कहा कि यह समाज 2500 वर्षों से भारत की सेवा कर रहा है तथा देश की उन्नति व तरक्की में इस समाज का बहुत योगदान है। उन्होंने कहा कि कोई भी समाज तभी प्रगति करता है जब उसके अग्रज लोग समाज को आगे लाने के लिए प्रेरित करते है तभी समाज का सम्पूर्ण विकास संभव है। उन्होनंे कहा कि देश के विकास के लिए सामाजिक समरसता की आवश्यकता है तभी देश आगे बढे़गा। डा0 बिन्दल ने समाज में उत्कृष्ट कार्य करने पर प्रो0 वलवीर सिंह, राम स्वरूप चौहान, राम चन्द्र वर्मा और मनी राम पुण्डीर को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।