वन मंत्री ने राजगढ़ में पर्यावरणविद को किया सम्मानित

हिमाचल

सिरमौर न्यूज। राजगढ़
वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर द्वारा वनमंडल राजगढ़ के कोर्ट रूम का शुभारंभ करने के बाद समारोह में विशेष कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों एवं स्थानीय पर्यावरणविद शेरजंग चौहान को भी सम्मानित किया गया। शेरजंग चौहान को वन मंडल राजगढ़ ने दूसरी बार सम्मानित करते हुए उनके कार्यों की सराहना की। शेरजंग चौहान को जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि वे लगभग 35 वर्षों से पर्यावरण को संवारने के लिए, ग्रामीणों को देवदार के लधुवन लगाने के लिए जागरूक करने में जुटे हुए हैं जिसके अच्छे परिणाम आने आरंभ हो गए हैं। इस मुहिम में उन्होंने ग्रामीणों को लधुवन अवधारणा के तहत सीमित वन लगाने को प्राथमिकता दी है जिसमें घने देवदार के पौध,े एक-दो फुट की दूरी पर रोपे जाते हैं जो कम से कम दस स्क्वेयर फुट स्थान घेरते हों।

इस प्रकार थोड़े से स्थान पर ही देवदार का एक मिनी जंगल खड़ा हो जाता है। शेरजंग चौहान ने बताया कि उन्होंने इसी प्रकार का एक जंगल खड़ा कर दिया है जिसके पेड़ इस समय 4 फुट से साढ़े पांच फुट मोटाई लिए हो गए हैं। उन्होंने कहा कि अगले प्रयोग में वे इससे से भी घना जंगल तैयार करने में जुटेहुए हैं और जल्दी ही उसके परिणाम भी दिखाई देने आरंभ हो जाएंगे। इस प्रकार वे अगले प्रयोग में देवदार की खेती पर जोर देंगे और ग्रामीणों को वन विभाग से जोड़ कर, पर्यावरण संरक्षण के साथ साथ उन्हें रोजगार से भी जोड़ेंगे। उन्होंने इस सम्मान के लिए डीएफओ राजगढ़ मृत्युंजय माधव एवं एसीएफ श्रेष्ठानंद का आभार प्रकट किया तथा कहा कि यदि उनका सहयोग बना रहा तो वे जल्दी ही अपनी मुहिम में गति प्रदान करने में सक्षम हो जाएंगे।